कोलकाता. विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पहले टेस्ट मैच में भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत दर्ज कर अपने सफर का आगाज कर दिया है. पहले टेस्ट मैच के प्लेइंग एलेवेन को लेकर काफी बयानबाजी भी हुई. कप्तान कोहली (Virat Kohli) के साथ-साथ टीम के चयनकर्ताओं को भी लोगों ने घेरे में लिया. ये सब इसलिए हुआ क्योंकि इस टीम ने पहले मैच में अपने नए और युवा खिलाड़ियों को मौके दिए और वहीं आर. अश्विन, रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों को बिना वजह छुट्टी पर भेज दिया.

भारत के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी (Syed Kirmani) ने भी इसको लेकर अपने विचार रखते हुए कहा कि विंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की जगह ऋद्धिमान साहा (Ridhiman Saha) को प्लेइंग एलेवेन में शामिल किया जाना चाहिए. अपने करियर में 88 टेस्ट मैच खेल चुके किरमानी ने साहा के पक्ष में बात करते हुए कहा कि साहा टीम के चयन के वक्त चोटिल थे मगर अब वो ठीक हैं. उसे भी पंत के बराबर मौका मिलना चाहिए.

एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, ‘वह (पंत) अभी झूले में हैं, लेकिन काफी प्रतिभाशाली है. उन्हें हालांकि काफी कुछ सीखना है.’ उन्होंने कहा, ‘फील्ड पर यह सबसे कठिन पोजिशन होती है. हर कोई दस्तानें पहनकर विकेटकीपर नहीं बन सकता.’ उन्होंने कहा, ‘साहा चोटिल हो गए थे. उन्हें समान मौके मिलने चाहिए. उन्हें टीम में रखने का क्या फायदा जब मौका ही नहीं देना है.’

विकेट कीपर किरमानी ने इस बात पर भी जोड़ डाला के टीम में किसी भी खिलाड़ी का चयन केवल उसके प्रदर्शन के आधार पर ही होना चाहिए.