युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत (Rishabh Pant) को भारतीय टीम में अपने पहले दिन से ही आलोचनाएं झेलनी पड़ रही हैं। जो कि स्वाभाविक है जब आप महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) जैसे दिग्गज खिलाड़ी की जगह खेल रहे हों तो। हालांकि पंत के लगातार अच्छा प्रदर्शन ना कर पाने और खराब शॉट खेलकर आउट होने से उनके आलोचकों को और भी बढ़ावा मिला है। हालांकि वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे मैच में अर्धशतकीय पारी खेलकर पंत ने अपने बल्ले से जवाब दिया लेकिन भारत वो मैच हार गया। Also Read - ऋद्धिमान साहा को यकीन- समय के साथ बेहतर होगी रिषभ पंत की विकेटकीपिंग

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) कई बार ये बयान दे चुके हैं कि पंत अभी युवा हैं और उन्हें कुछ समय देने की जरूरत है। अब पंत के कोच तारक सिन्हा ने भी यही बात दोहराई है। Also Read - मैं नहीं चाहता कि MS Dhoni से हो मेरी तुलना, मैं खुद की पहचान बनाना चाहता हूं: Rishabh Pant

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए बयान में सिन्हा ने कहा, “हमने ये निश्चित किया है कि हम आलोचना के बारे में बात नहीं करेंगे। उसे मानसिक तौर पर सकारात्मक होना होगा। महेंद्र सिंह धोनी को उस मुकाम तक पहुंचने में, जहां आज वो हैं, काफी समय लगा था। लेकिन ये भी जरूरी है कि आप अपनी गलतियों से ना छुपें।” Also Read - ICC Test Batting Rankings: मार्नस लाबुशेन से भी पिछड़े Virat Kohli, Rishabh Pant ने किया कमाल

गंभीर बोले- रिषभ पंत को धोनी की इस रणनीति को जल्‍द से जल्‍द अपनाना होगा

सिन्हा ने ये भी बताया कि वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज से पहले पंत ने सोनेट क्लब में उनके और मेंटोर देवेंदर शर्मा के साथ अभ्यास किया था। इस दौरान सिन्हा और शर्मा का ध्यान पंत की बैट स्विंग वापस लाने पर था, जिसका नतीजा चेन्नई में देखने को मिला।

कोच ने कहा, “वो यहां आकर हमेशा हल्का महसूस करता है। वो ये शिकायत कर रहा था कि वो अपने शॉट नहीं खेल पा रहा था। सब कुछ आधे मन से हो रहा था। वो अपने सामने के पैर को आगे की ओर झुकाना चाहता था। बात केवल आत्मविश्वास की है। फिर उन्होंने कहा कि वो बड़े शॉट्स का अभ्यास करना चाहता है। इससे वो खुल गया और बैट स्विंग वापस आ गया।”

पंत के खेल में और सुधार के बारे में सिन्हा ने कहा, “मैंने उससे कहा कि लोग उसका ऑन-साइड ब्लॉक कर रहे हैं। उसका स्टॉन्स खुल गया है और वो ऑफ साइड से गेंद लेग साइड पर लाकर खेल रहा है। उसे ये समझना होगा कि उसे अपने ऑफ साइड के खेल को फिर से जिंदा करना है।”