अपने पहले मिक्स्ड मार्शल आर्टस मुकाबले में नॉकआउट जीत दर्ज करने वाली भारतीय महिला पहलवान रितु फोगाट की नजर इस समय देश की पहली एमएमए विश्व चैंपियन बनने पर है. 25 वर्षीया रितु अपना अगला एमएमए मुकाबला 28 फरवरी को सिंगापुर में खेलेगी. राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप 2016 में स्वर्ण और 2017 विश्व अंडर-23 चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाली रितु ने ‘द वन: ऐज आफ ड्रेगन’ के दौरान एमएमए में पदार्पण करते हुए दक्षिण कोरिया की नाम ही किम को तीन मिनट के अंदर हराया. Also Read - पहलवान से मिक्स्ड मार्शल आर्ट फाइटर बनीं रितु फोगाट ने लगातार तीसरा MMA चैंपियनशिप खिताब जीता

राहुल की शानदार फॉर्म को देख धवन बोले-केएल 12वें नंबर पर भी उतरकर सेंचुरी जड़ सकते हैं Also Read - रेसलिंग के बाद अब इस खेल में पटखनी देने को तैयार पहलवान रितु फोगाट, ऐसी कर रहीं तैयारी

चीन की पेशेवर एमएमए फाइटर के खिलाफ होने वाले अगले मुकाबले से पूर्व रितु ने कहा, ‘मुझे पता है कि मुझे अभी काफी लंबा रास्ता तय करना है लेकिन मैं लक्ष्य तक पहुंचने तक कड़ी मेहनत करने को तैयार हूं. मेरा सपना भारत को उसका पहला मिश्रित मार्शल आर्ट विश्व चैंपियन देने का है.’

कुश्ती में वापसी की योजना के बारे में पूछने पर रितु ने कहा, ‘हां, निश्चित तौर पर. मेरा कुश्ती करियर शानदार रहा लेकिन मैं कुछ नया करना चाहती थी. जब मैंने मिश्रित मार्शल आर्ट में जाने का फैसला किया तो मुझे इसके जोखिम और फायदों की जानकारी थी.’

वर्ल्ड कप के लिए महिला क्रिकेट टीम नहीं है फिट! पूर्व कप्तान बोलीं- लड़कियां इतनी आलसी कि…

अपनी बहन और वर्ल्ड चैंपियनशिप की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट विनेश फोगाट की टोक्यो ओलंपिक की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर रितु ने कहा, ‘विनेश काफी अच्छा कर रही है और मुझे ही नहीं बल्कि पूरे देश को उम्मीद है कि वह कुश्ती में देश की पहली स्वर्ण पदक विजेता बनेगी.’