नई दिल्ली. विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप में भारत की महिला पहलवान रितु मलिक कांस्य पदक जीतने से चूक गईं जबकि रियो ओलम्पिक की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक और पूजा ढांडा के अपने-अपने वर्ग के रेपचेज में पहुंचने से भारत के लिए कांस्य की उम्मीदें जग गई. रितु ने महिलाओं की 65 किग्रा के रेपचेज में बुल्गारिया की सोफिया रिस्तोवा को रोमांचक मुकाबले में 9-8 से हराकर कांस्य पदक मुकाबले में जगह बनाई. लेकिन, कांस्य मुकाबले में उन्हें पिछले साल अंडर-23 विश्व खिताब जीतने वाली जापान की आयना गेम्पेय से 3-7 से शिकस्त झेलनी पड़ी और वह कांस्य पदक जीतने से चूक गईं.

दूसरे मुकाबले में 68 किग्रा में नवजोत कौर भी रेपचेज में पहुंची. उन्होंने पहले राउंड में कोरिया की युन्सिल जांग को 10-0 से हराया. लेकिन दूसरे मुकाबले में उन्हें कनाडा की ओलिविया ग्रेस से 0-11 से हार का सामना करना पड़ा और वह कांसा जीतने से महरूम रह गईं. महिलाओं की ही 62 किग्रा में साक्षी को क्वार्टरफाइनल में दो बार की विश्व चैम्पियन जापान की युकाको क्वाई से 2-16 से करारी मात खानी पड़ी. हालांकि युकाको के फाइनल में पहुंचने से साक्षी को रेपचेज में पहुंचने का मौका मिल गया.

रितु फोगाट को 50 किग्रा में पिछले साल 48 किग्रा में खिताब जीतने वाली जापान की युई सुसाकी ने क्वार्टरफाइनल में 11-0 से हराया. हालांकि यहां भी सुसाकी के फाइनल में पहुंचने से रितु को रेपचेज में अपना स्थान पक्का करने का मौका मिल गया. रेपचेज में रितु का सामना रोमानिया की एमिलिया एलीना से होगा.  वहीं, 57 किग्रा में राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदक विजेता पूजा को चीन की नींगनींग रोंग ने रोमांचक मुकाबले में 4-3 से पराजित किया. यहां भी रोंग के फाइनल में पहुंचने से पूजा को रेपचेज में खेलने का मौका मिल गया.