भारतीय क्रिकेट टीम में वापसी की बाट जोह रहे बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा का कहना है कि वह अब भी एक वर्ल्ड कप खेल सकते हैं. जिम्बाब्वे के खिलाफ जुलाई 2015 में अपना अंतिम इंटरनेशनल मैच खेलने वाले इस 34 वर्षीय बल्लेबाज का मानना है कि वह टीम इंडिया में फिनिशर की भूमिका बखूबी निभा सकते हैं. उथप्पा वनडे विश्व कप 2007 की टीम में शामिल थे और पहले टी20 विश्व कप की विजेता टीम का हिस्सा थे. अक्टूबर 2011 के बाद से केवल आठ वनडे और चार टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच ही खेल पाए हैं. Also Read - 'मुझे टीम इंडिया में नहीं लेंगे चयनकर्ता क्योंकि उन्हें लगता है कि मैं बूढ़ा हूं'

‘मैं वास्तव में खेलना चाहता हूं और अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं’ Also Read - हरभजन सिंह ने टीम इंडिया में वापसी की भरी हुंकार, बोले- T20 तो खेल ही सकता हूं

उथप्पा ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ‘अभी मैं प्रतिस्पर्धी बनना चाहता हूं. अब भी मेरे अंदर यह जज्बा है. मैं वास्तव में खेलना चाहता हूं और अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं. मैं पूरी ईमानदारी से यह मानता हूं कि मैं अभी एक विश्व कप में खेल सकता हूं. इसलिए मैं इसके लिए खुद को तैयार रख रहा हूं विशेषकर छोटे प्रारूप में.’ Also Read - पृथ्वी शॉ बोले-सचिन सर मुझे तकनीकी पहलू की जगह इस चीज के बारे में बताते हैं

गावस्कर-पुजारा ने कोराना से छिड़ी जंग में बढ़ाए मदद को हाथ, जानिए कितनी धनराशि की दान

‘आप कभी खुद को चुका हुआ नहीं मान सकते’

वह हालांकि जानते हैं कि इसके लिए उन्हें भाग्य की भी जरूरत पड़ेगी. उथप्पा ने कहा, ‘भाग्य भी आपके साथ होना चाहिए. यह अहम भूमिका निभाता है. विशेषकर भारत में इसकी भूमिका स्पष्ट होती है. विदेशों में यह बहुत अधिक महत्व नहीं रखता लेकिन उपमहाद्वीप विशेषकर भारत में जहां इतनी अधिक प्रतिभा है, यह महत्वपूर्ण बन जाता है. उन्होंने कहा, ‘आप कभी खुद को चुका हुआ नहीं मान सकते. अगर आप खुद को चुका हुआ मान देते हो तो यह अनुचित होगा. विशेषकर तब जबकि आप मानते हैं कि आपके पास क्षमता है और और मौका बन सकता है. जब ऐसा मौका है मैं क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा.’

Covid-19 lockdown: घर में प्रैक्टिस को मजबूर सुरेश रैना, बेटी ग्रेसिया बनी अंपायर, देखें VIDEO

उथप्पा ने कहा, ‘मैं अब भी मानता हूं कि चीजें मेरे अनुकूल हो सकती हैं और मैं विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा बन सकता हूं और उसमें अहम भूमिका भी निभा सकता हूं. सपने अब भी है और जब तक ये सपने रहेंगे मैं क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा.’

46 वनडे में उथप्पा ने 934 रन बनाए हैं जिसमें 6 अर्धशतक शामिल है. 13 टी20 इंटरनेशन मैचों में उथप्पा के नाम 249 रन दर्ज हैं.