स्विट्जरलैंड के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर (Roger Federer) ने कहा है कि वह अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलंपिक (2020 Tokyo Olympics) में पुरुष एकल (Mens Singles) में स्वर्ण पदक जीतने के सपने को साकार करने के इरादे से चुनौती पेश करेंगे.

आईसीसी ने बहाल की जिम्‍बाब्‍वे और नेपाल के क्रिकेट बोर्ड की सदस्‍यता

इस खेल के लगभग सभी बड़े खिताबों को अपने नाम कर चुके फेडरर (Federer) ने ओलंपिक के एकल स्पर्धा में स्वर्ण पदक नहीं जीता है.

फेडडरर (Federer) ने पेरिस में सोमवार को एक प्रचार कार्यक्रम में कहा, ‘मैं इस बारे में अपनी टीम से चर्चा कर रहा था कि अगले साल विम्बलडन (Wimbledon) और यूएस ओपन (US Open) के बीच मुझे क्या करना चाहिए. फिर मैंने एक बार और ओलंपिक खेलने का फैसला किया.’

Denmark Open 2019: फॉर्म की तलाश में उतरेंगी मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधू

फेडरर ने 20 ग्रैंडस्लैम के अलावा छह बार एटीपी फाइनल्स (ATP Finals) का खिताब जीता है लेकिन ओलंपिक के एकल वर्ग में वह कभी शीर्ष पर नहीं रहे.

उन्होंने हालांकि स्टैन वावरिंका (Stanislas Wawrinka) के साथ मिलकर बीजिंग में युगल वर्ग में स्वर्ण जीता था. लंदन (2012) ओलंपिक के फाइनल में वह एंडी मरे (Andy Murrey) से हार गए थे. उन्होंने 2016 में रियो ओलंपिक (2016 Rio Olympics) में भाग नहीं लिया था.