मंगलवार को सामने आई रिपोर्ट के बाद अब ये साफ हो चुका है कि सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दिसंबर में होने वाली टेस्ट सीरीज के पहले दो मैचों का हिस्सा नहीं होंगे। लेकिन इस खबर के साथ इन दोनों खिलाड़ियों के सीरीज के बाकी दो टेस्ट मैचों में खेलने पर भी संशय बन गया है। Also Read - ऑलराउंडर की भूमिका में रवींद्र जडेजा का आगे बढ़ना भारत के लिए बहुत बड़ा बोनस: भरत अरुण

रोहित और इशांत फिलहाल बैंगलोर स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी में हैं, ऐसे में अगर इन खिलाड़यों को 7 जनवरी को शुरू होने वाले सीरीज के तीसरे टेस्ट में हिस्सा लेना है तो उन्हें जल्द से जल्द फिट होकर ऑस्ट्रेलिया रवाना होना होगा। चूंकि रोहित-इशांत कमर्शियल फ्लाइट के जरिए ऑस्ट्रेलिया जाएंगे, ऐसे में उन्हें 14 दिन के अनिवार्य क्वारेंटीन से भी गुजरना होगा, जिस दौरान उन्हें ट्रेनिंग की इजाजत भी नहीं मिलेगी। Also Read - कोच रवि शास्त्री ने कहा- ऑस्ट्रेलिया दौरे की खोज हैं मोहम्मद सिराज

विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई में 12 नवंबर को सिडनी पहुंची टीम इंडिया को क्वारेंटीन में अभ्यास करने की अनुमति मिली थी चूंकि सभी खिलाड़ी दुबई में आयोजित किए गए बायो सिक्योर बबल में रहने के बाद ऑस्ट्रेलिया गए थे लेकिन रोहित-इशांत के साथ ऐसा नहीं है। इन सभी परिस्थितियों पर गौर किया जाय तो इन दोनों खिलाड़ियों के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर होने वाली टेस्ट सीरीज से बाहर होने के आसार नजर आते हैं। Also Read - टीम इंडिया फिटनेस: अब Yo-Yo के बाद खिलाड़ियों को पास करना होगा यह नया टेस्ट

वहीं बीसीसीआई का इस मामले पर अलग ही रुख है, बोर्ड का कहना है कि रोहित और इशांत ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाले स्क्वाड का हिस्सा थे ही नहीं।

टाइम्स ऑफ इंडिया में बोर्ड के हवाले से लिखा गया, “रोहित और इशांत स्क्वाड का हिस्सा नहीं थे। टेस्ट के लिए 18 सदस्यीय टीम का ऐलान किया गया था। अब जबकि विराट कोहली वापस आ रहे हैं तो हम उम्मीद कर रहे हैं कि श्रेयस अय्यर (टेस्ट) सीरीज के लिए रुक जाएंगे।”

रिपोर्ट के मुताबिक एनसीए ने रोहित का फिटनेस टेस्ट 11 दिसंबर को कराने की योजना बनाई है लेकिन अगर भारतीय सलामी बल्लेबाज इस टेस्ट में पास भी हो जाता है तो उन्हें 14 दिन के क्वारेंटीन में रहना ही होगा।

इस पर बोर्ड की ओर से कहा गया कि ‘समस्या ये है कि ऑस्ट्रेलिया में 14 दिन का क्वारेंटीन अनिवार्य है। अगर उसे 12 दिसंबर को यात्रा करने की अनुमति भी मिल जाती है तो भी वो कैसे जाएगा? कोई कमर्शियल फ्लाइट नहीं हैं। और अगर वो किसी तरह रवाना हो जाता है तो उसे दो हफ्ते के सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा। वो कब उपलब्ध होगा, ये फिटनेस पर निर्भर है। हम सभी को पता था कि वो कभी जाने वाला नहीं था।”