विशाखापत्तनम टेस्ट (Vizag Test) की दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ 133 गेंदो पर 100 रन बनाकर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) बतौर सलामी बल्लेबाज डेब्यू मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। रोहित ने वाइजैग टेस्ट की पहली पारी में 176 रन बनाए थे।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट के चौथे दिन रोहित ने जैसे ही 53वें ओवर में वर्नान फिलेंडर (Vernon Philander) के खिलाफ एक रन लेकर अपना शतक पूरा किया, वैसे ही वो भारत के लिए टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले सलामी बल्लेबाज और छठें खिलाड़ी बन गए।

रोहित से पहले पूर्व खिलाड़ी विजय हजारे (1948), सुनील गावस्कर (1971, 1978, 1978), राहुल द्रविड़ (1999, 2005), विराट कोहली (2014) और अजिंक्य रहाणे (2015) टेस्ट क्रिकेट में ये कारनामा कर चुके हैं।

रोहित शर्मा-चेतेश्वर पुजारा ने बनाई शतकीय साझेदारी, टी तक भारत 175/1

रोहित की ये पारी टेस्ट क्रिकेट में उनकी लगातार सातवीं अर्धशतकीय पारी है। जिसके साथ रोहित भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में लगातार सर्वाधिक 50+ स्कोर बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।

पहली पारी के 176 रन और इस शतक को मिलाकर रोहित बतौर सलामी बल्लेबाज अपने डेब्यू मैच में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।

रोहित ने पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू का बतौर भारतीय बल्लेबाज एक टेस्ट मैच में 8 छक्के लगाने का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। अब रोहित टेस्ट मैच में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले विश्व के नंबर एक बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित ने पूर्व पाक क्रिकेटर वसीम अकरम के 12 छक्कों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।  वाइजैग टेस्ट की दोनों पारियों में रोहित ने कुल 13 छक्के जड़े।