बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ तीसरे टी20 मैच में शानदार जीत हासिल करने के साथ ही भारतीय टीम (Team India) ने रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी में एक और बड़ी टी20 सीरीज जीत ली है। कप्तान ने इस जीत का श्रेय गेंदबाजों को दिया।

रोहित ने कहा, “गेंदबाजों ने हमे मैच जिताया। ओस को देखते हुए, मुझे पता है कि कितनी मुश्किल हो रही थी। एक समय पर जब उन्हें (बांग्लादेश को) 8 ओवर में कुछ 70 रन चाहिए थे तो हमारे लिए हालात कठिन थे। हमने शानदार कमबैक किया।”

175 रन के लक्ष्य को बचाने उतरी टीम इंडिया को तेज गेंदबाज दीपक चाहर (Deepak Chahar) ने शुरुआती सफलताएं दिलाई। हालांकि मोहम्मद नईम और मोहम्मद मिथुन की साझेदारी ने भारत को बैकफुट पर भेज दिया। जिसके बाद कप्तान ने खिलाड़ियों के साथ बात की, जिसके बाद चाहर और फिर शिवम दुबे (Shivam Dube) में लगातार विकेट निकाले।

भारत ने बांग्लादेश को 30 रन से हरा 2-1 से जीती सीरीज

इस टीम हडल के दौरान क्या बात हुई इस बारे में पूछे जाने पर कप्तान ने कहा, “मैंने उन्हें केवल ये याद दिलाया (अपनी जर्सी पर लगे बैज की तरफ इशारा करते हुए) कि हम इसके लिए खेल रहे हैं। मैं समझ सकता हूं कि विकेट नहीं गिर रहे, खुद को फिर से उठाना मुश्किल है। मुझे केवल उन्हें याद दिलाना था कि हम किसके लिए खेल रहे हैं, श्रेय गेंदबाजों को जाता है।”

गेंदबाजों के शानदार प्रयास से पहले श्रेयस अय्यर और केएल राहुल की अर्धशतकीय पारियों ने मुश्किल में फंसी टीम इंडिया को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाकर लड़ाई का मौका दिया था। इन बल्लेबाजों के बारे में रोहित ने कहा, “जिस तरह से राहुल और अय्यर खेले, वो कमाल था। हम टीम से यही चाहते हैं- कि खिलाड़ी जिम्मेदारी उठाएं।”

रोहित ने आगे कहा, “जब तक हम विश्व कप के करीब पहुंचें, हमें टीम का सही संतुलन ढूंढना होगा। कुछ खिलाड़ी यहां नहीं हैं लेकिन वो वापस आएंगे। इन सब चीजों को ध्यान में रखते हुए, ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले हमारे सामने कुछ और मैच हैं। अगर हम इसी तरह से प्रदर्शन करते रहे, जैसे हमने आज किया तो विराट (कोहली) और चयनकर्ताओं का सिरदर्द बढ़ गया।”