लंबे समय से भारतीय टीम में जगह पक्की करने की कोशिश कर रहे शीर्ष क्रम बल्लेबाज केएल राहुल (KL Rahul) को 2019 में सफलता हासिल हुए। राहुल के लिए ये साल करियर का सबसे बेहतरीन समय रहा। उन्होंने शीर्ष क्रम से लेकर मध्यक्रम तक हर नंबर पर बल्लेबाजी की और जरूरत पड़ने पर टीम के लिए विकेटकीपर भी बन गए। हालांकि राहुल को सबसे ज्यादा खुशी तब हुई जब साथी खिलाड़ी और उप कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने उनकी तारीफ की। Also Read - पाकिस्तान ने टीम इंडिया को इतना मारा कि मैच के बाद माफी मांगने लगे : शाहिद आफरीदी

राहुल ने कहा है कि रोहित कई बार उनके साथ खड़े रहे हैं। और जब रोहित ने हालिया बयान में ये कहा की टी20 फॉर्मेट के लिए सलामी बल्लेबाजी के तौर पर राहुल पहली पसंद हैं तो कर्नाटक के इस खिलाड़ी की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। Also Read - 39 साल के हुए रांची के 'राजकुमार' MS Dhoni, ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा #HappyBirthdayDhoni

राहुल ने इंडिया टुडे से कहा, “रोहित के शब्द (टी20 में राहुल पहली पसंद हैं, और इसके बाद मेरे और धवन में से फैसला होगा) सुनकर अच्छा लगा। मैं उनकी बल्लेबाजी का बड़ा प्रशंसक रहा हूं। मैं उनके साथ कुछ वर्षों तक खेला हूं, लेकिन वो ऐसे खिलाड़ी हैं जो टीम में, मैं कैसे कहूं, जैसे कुछ क्रिकेटर होते हैं जो सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी देखकर हैरान हो जाते हैं। वह नहीं जानते की क्या कहें। जब मैं रोहित के साथ मैदान के बाहर होता हूं तो मुझे विश्वास नहीं होता।” Also Read - नहीं होगा टी20 विश्व कप; इंग्लैंड दौरे की तैयारी में जुटी ऑस्ट्रेलिया टीम

राहुल ने साथ ही बताया कि जब वह टीम से अंदर-बाहर हो रहे थे तब रोहित ने कैसे उनकी आत्मविश्वास हासिल करने में मदद की। राहुल ने कहा, “लेकिन वो टीम में वो शख्स हैं जिन्होंने मुझे बताया कि उन्हें मुझ पर भरोसा है और एक सीनियर खिलाड़ी के तौर पर मैंने देखा है कि उन्होंने मेरा समर्थन किया है और मेरे साथ खड़े हुए हैं।”

उन्होंने कहा, “जब उनकी तरह का कोई सीनियर खिलाड़ी होता है जो जिम्मेदारी ले सके और वो टीम में मौजूद सीनियर खिलाड़ियों में से एक हो तो यह युवा खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देता है।”