पूर्व इंग्लिश कप्तान डेविड गॉवर (David Gower) का मानना है कि भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने बल्लेबाजी के पाचों तत्वों में महारथ हासिल कर ली है और यही उनकी शानदार बल्लेबाजी का राज है। Also Read - IPL 2020: MI के खिलाड़ियों की 5 बार होगी कोरोना जांच, इस तारीख को जा सकती है

क्रिकेट डॉट कॉम को दिए इंटरव्यू में गॉवर ने कहा, “फिलहाल, हम उनकी (रोहित की) प्रतिभा को हर समय देखते हैं क्योंकि वो रन के ढेर लगाते हैं। ये दिखाता है कि आपके पास दृढ़ संकल्प, क्षमता, तकनीक, शांत स्वभाव और एकाग्रता है -लंबे समय तक क्रीज पर कब्जा करने के लिए ये पांचों चीजें जरूरी हैं।” Also Read - IPL 2020 : जानिए कहां और किस समय देख सकेंगे IPL के मैच, तीसरी बार घर के बाहर होगा आयोजन

पिछले साल इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में रोहित ने पांच शतकीय पारियां खेलकर नया रिकॉर्ड बनाया। साथ ही वो 2019 में वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक 1490 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने। Also Read - रोहित-कार्तिक छुपा नहीं पा रहे IPL को लेकर क्रेज, फोटो शेयर कर बोले- दुबई में...

हालांकि गॉवर ने माना कि रोहित के बल्लेबाज को इतना आसान दिखाने का एक नकारात्मक पक्ष भी है।
उन्होंने कहा, “इसका नुकसान, जो कि अब तक रोहित को भी समझ आ गया होगा ये है कि अगर वो बल्लेबाजी को इतना आसान दिखाएगा तो जब भी वो आउट होगा, दर्शक स्वाभाविक तौर पर ये समझ लेंगे कि आपको फर्क नहीं पड़ता और आप परवार नहीं कर रहे हैं।”

गॉवर ने आगे कहा, “आउट होना उतना आसान लगता है, जितना कि चौका लगाना। ऐसे में आप केवल इतना ही कह सकते हैं कि ‘देखो दो दिन पहले मैंने एक शतक लगाया था, मैं हर रोज यही करने की कोशिश कर रहा हूं, अगर ये काम नहीं करता तो इसका मतलब ये नहीं कि मैं कोशिश नहीं कर रहा हूं’।”

इससे पहले पूर्व भारतीय ऑलराउंडर इरफान पठान (Irfan Pathan) भी ये बात कह चुके हैं। पठान ने भी माना था कि शुरुआत में रोहित को बल्लेबाज देखकर उन्हें लगता था कि वो बेहद आलसी हैं। वहीं विकेटकीपर बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) ने भी बयान दिया था कि रोहित के पास गेंद खेलने के लिए इतना समय होता है कि लोगों को लगता है कि वो मेहनत नहीं कर रहे।