नई दिल्ली. सामने क्रिकेट का सबसे छोटा फॉर्मेट हो तो जहन में रोहित हिटमैन शर्मा का डर बैठना लाजमी है. T20 सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम पर भी यही डर हावी है. और, ये डर यूं ही नहीं है बल्कि इसकी ठोस वजह भी है. इसकी वजह है क्रिकेट के शॉर्टर फॉर्मेट में रोहित शर्मा का मौजूदा फॉर्म, उनकी बेखौफ बल्लेबाजी, इंटरनेशनल T20 में सबसे ज्यादा 4 शतक बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड और उनका जबरदस्त स्ट्राइक रेट. ये वो तमाम वजहें हैं जिसने T20 सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलिया की नींदें हराम कर रखी हैं. यही वजह है कि वो विराट को लेकर तो पैंतरे बेशक बना रही है लेकिन रोहित के अंदाज को भी नजरअंदाज करना उसके लिए नामुमकिन हो रहा है. Also Read - कोरोना से जंग में मिला अनिल कुंबले का साथ, प्रधानमंत्री राहत कोश में दिया गुप्‍त दान

रोहित के खिलाफ 2 सूत्री फॉर्मूला

T20 सीरीज को लेकर ऑस्ट्रेलिया विराट के लिए तो प्लान बुन ही रहा है साथ ही साथ रोहित के लिए भी कारगर रणनीति तैैयार कर रहा है. ऑस्ट्रेलियाई टीम के तेज गेंदबाज कुल्टर नाइल के मुताबिक मेजबान टीम रोहित को रोकने के दो तरीके आजमा सकती है. पहला सटीक इनस्विंगर से LBW कर सकती है और दूसरा शॉर्ट पिच गेंदों से उन्हें परेशान कर सकती है.

रोहित के खिलाफ पहली रणनीति

नाइल ने माना कि, ” रोहित लाजवाब क्रिकेटर हैं और इसकी गवाही दुनिया भर में उनके शानदार रिकॉर्ड देते हैं. ऐसे में यहां भी सभी की निगाहें उन्हीं पर हैं.” उन्होंने कहा, ‘‘ हमें नई गेंद से रोहित के खिलाफ थोड़ी सफलता मिली है. मुझे याद है कि पिछली बार जैसन बेहरनडोर्फ ने उन्हें LBW आउट किया था. हम फिर से ऐसा करने की कोशिश करेंगे.’’

रोहित के खिलाफ दूसरी रणनीति

कूल्टर नाइल रोहित को शार्ट पिच गेंदे करने को लेकर भी उत्साहित हैं. उनके मुताबिक इसके लिए बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जैसन ऑस्ट्रेलिया का तुरुप का इक्का हो सकते हैं, जिन्होंने पिछले साल गुवाहाटी में खेले गये T20 में भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करके 21 रन देकर चार विकेट लिये थे, जिनमें रोहित और कोहली का विकेट भी शामिल था.

रोक सको तो रोक लो!

रोहित का आस्ट्रेलिया में प्रभावशाली रिकार्ड रहा है. पिछले आठ सालों में उन्होंने यहां 62.31 की औसत से 810 रन बनाये हैं. इसके साथ साथ वो इंटरनेशनल T20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज भी है. अब ऐसे में कुल्टर नाइल कंगारू गेंदबाजों के पिछले प्रदर्शन का बखान करते हुए रोहित को आउट करने को लेकर अपने मन को दिलाशा तो दे रहे हैं  पर ये भूल रहे हैं कि क्रिकेट में हर मुकाबला नया होता है. जिस तरह की फॉर्म में रोहित अभी हैं और जिस तरीके का रिकॉर्ड उनका ऑस्ट्रेलिया में है, अगर उनके पांव क्रीज पर जम गए तो फिर ब्रिस्बेन में मेजबानों की शामत आनी तय है.