भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने साल 2007 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था. वर्ल्ड क्रिकेट में ‘हिटमैन’ के नाम से अपनी पहचान बना चुके रोहित ने इसके बाद कई यादगार पारियां खेली. सीमित ओवरों की क्रिकेट में तो उन्होंने अपनी विशेष छाप छोड़ी. उन्होंने वनडे में अब तक 29 और टेस्ट मैचों में 6 शतक लगाए हैं. टी20 इंटरनेशनल में उनके नाम पर 3 शतक दर्ज हैं. रोहित ने खुलासा किया है कि कभी ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली की तूफानी गेंदबाजी का सामना करने के विचार से ही उनकी नींद उड़ जाती थी. Also Read - BCCI ने रोहित शर्मा को खेल रत्न के लिए नामांकित किया; अर्जुन अवार्ड के लिए भेजे तीन खिलाड़ियों के नाम

बावजूद इसके वर्तमान गेंदबाजों में ऑस्ट्रेलिया के जोश हेजलवुड वह तेज गेंदबाज हैं जिनका यह भारतीय सलामी बल्लेबाज टेस्ट मैचों में सामना नहीं करना चाहता है. Also Read - जेपी ड्यूमिनी की ऑल टाइम IPL इलेवन में MS धोनी को जगह नहीं, सिर्फ ये दो भारतीय शामिल

‘हेजलवुड का सामना करने के लिए मानसिक रूप से तैयार होना होगा’ Also Read - लॉकडाउन के बीच उमेश यादव ने करियर, लव लाइफ से जुड़े दो यादगार लम्‍हों का एक साथ मनाया जश्‍न

रोहित ने कहा कि कोविड-19 महामारी से राहत मिलने पर भारत जब इस साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगा तो उन्हें हेजलवुड का सामना करने के लिए मानसिक रूप से तैयार होना होगा.

रोहित से पूछा गया कि उन्हें अब तक किस तेज गेंदबाज का सामना करने में सबसे मुश्किल आई, उन्होंने कहा, ‘वह गेंदबाज ब्रेट ली हैं क्योंकि 2007 में ऑस्ट्रेलिया के मेरे पहले दौरे में उसके कारण मैं सो नहीं पाया था क्योंकि मैं सोच रहा था कि 150 किमी से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी करने वाले इस गेंदबाज का कैसे सामना करूं.’

बल्ले और गेंद से ही नहीं यूनिक हेयरस्टाइल से भी फैंस के दिलों पर राज करते हैं ये क्रिकेटर्स

उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ‘ब्रेट ली 2007 में अपने चरम पर था. मैं उस पर करीबी नजर रखता था और मैंने पाया कि वह लगातार 150-155 किमी की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहा है. इस तरह की तूफानी गेंदबाजी का सामना करने के विचार से ही मुझ जैसे युवा खिलाड़ी की नींद उड़ गई.’

बतौर रोहित, ‘वर्तमान समय में जिस गेंदबाज का मैं टेस्ट मैचों में सामना नहीं करना चाहता हूं वह जोश हेजलवुड है क्योंकि वह बेहद अनुशासित गेंदबाज है और अपनी लेंथ से टस से मस नहीं होता. वह आपको ढीली गेंद नहीं देता है.’

‘डेल स्टेन ने भी काफी परेशान किया’

रोहित ने इसके साथ ही कहा कि दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने भी उनको काफी परेशान किया क्योंकि वह अच्छी गति से गेंद को स्विंग कराने में माहिर था.

पाक खिलाड़ी ने साथी खिलाड़ी पर लगाया बड़ा आरोप, बोला-मुझे खराब प्रदर्शन के लिए कहा जा रहा था

उन्होंने कहा, ‘संन्यास ले चुके गेंदबाजों में मेरे दो पसंदीदा गेंदबाज है. एक तो ब्रेट ली है और दूसरा डेल स्टेन है. मैं कभी स्टेन का सामना नहीं करना चाहता था क्योंकि एक साथ तेज और स्विंग लेती गेंद का सामना करना दुस्वप्न जैसा था.’

‘वर्तमान में तेज गेंदबाजों में हेजलवुड सर्वश्रेष्ठ’

रोहित ने कहा कि वर्तमान समय के तेज गेंदबाजों में हेजलवुड सर्वश्रेष्ठ हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैंने उसे समझने के लिए उसकी गेंदबाजी को काफी देखा है. मैं जानता हूं कि अगर मैं इस साल ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच खेलने के लिए जाता हूं तो मुझे जोश का सामना करते हुए अनुशासित बने रहने के लिये मानसिक तौर पर तैयार रहना होगा.