नई दिल्ली: दिनेश कार्तिक (29 रन, 8 गेंद, 2 चौके, 3 छक्के) की आतिशी पारी के दम पर निदाहस ट्रॉफी टूर्नामेंट का खिताब जीती भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा का कहना है कि उनके बल्लेबाज दिनेश अब हर स्थिति के लिए तैयार हैं. बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए फाइनल मैच में रविवार को भारत ने चार विकेट से खिताबी जीत हासिल की. Also Read - टीम इंडिया की ‘किट स्‍पॉन्‍सरशिप’ के लिए इन दो कंपनियों में लगी होड़, NIKE का करार हो रहा है खत्‍म

Also Read - विराट कोहली का भावुक VIDEO, कभी भी RCB को छोड़ने के बारे में नहीं सोच सकता

वेबसाइट ‘ईएसपीएनक्रिकइन्फो’ के अनुसार, कार्तिक को नम्बर छह पर बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला और इस कारण से वह थोड़े निराश थे. इस पर रोहित ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “मैं जानता हूं कि कार्तिक अनुभवी खिलाड़ी हैं. उनके शॉट काफी अच्छे होते हैं. ऐसे में वह हमारे लिए मैच का सही समापन करने वाले सबसे अच्छे उम्मीदवार थे.” Also Read - पूर्व चयनकर्ता बोले- धोनी भी हैं विराट की तरह उग्र, दोनों में है ये छोटा सा फर्क

IPL2018: मुंबई ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज को किया टीम से बाहर, मेक्लेनघन को ऑक्शन खत्म होने के बाद खरीदा

रोहित ने कहा, “जब मैं आउट हुआ और डगआउट पर आया तो कार्तिक निराश थे, क्योंकि उन्हें छठे नम्बर पर बल्लेबाजी करने का अवसर नहीं मिला था. मैंने उन्हें कहा कि मैं उन्हें हमारे लिए खेल की समाप्ति करते हुए देखना चाहता हूं, क्योंकि तुम्हारे पास जो भी कौशल है उसकी जरूरत हमें अंतिम तीन ओवरों में पड़ने वाली है. अब वह काफी खुश होंगे, क्योंकि उन्हें मैच का इतना शानदार समापन किया है.”

कप्तान रोहित ने कहा, “दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भी कार्तिक हमारे साथ थे, लेकिन उन्हें खेलने के अधिक मौके नहीं मिले. इस मैच में जो उन्होंने किया है इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा. सबसे खास बात उनका खुद पर विश्वास. अब वह हर प्रकार की स्थिति के लिए तैयार हैं. उनके जैसे खिलाड़ी की टीम में जरूरत है.”

वॉशिंगटन सुंदर ने तोड़ा वकार का रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने

बता दें कि दिनेश कार्तिक (29 रन, 8 गेंद, 2 चौके, 3 छक्के) की आतिशी पारी के दम पर भारत ने रविवार को आर.प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए निदाहस ट्रॉफी टी-20 त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल मैच में बांग्लादेश को चार विकेट से हरा दिया.

भारत को अंतिम गेंद पर जीत के लिए पांच रन चाहिए थे और कार्तिक ने मिडविकेट के ऊपर से छक्का लगाते हुए भारत को यादगार जीत दिलाई. भारत को यह मैच जिताने का श्रेय कार्तिक को मिलना चाहिए क्योंकि उन्होंने असम्भव को सम्भव करते हुए भारत को हार से बचा लिया.