नई दिल्ली : क्रिस गेल की 64 गेंद पर नाबाद 99 रन की पारी की मदद से किंग्स इलेवन पंजाब ने रायल चैलेंजर्स बैंगलोर की बीच के ओवरों की कसी हुई गेंदबाजी के बावजूद आईपीएल मैच में शनिवार को यहां चार विकेट पर 173 रन बनाये. गेल ने अपनी पारी में दस चौके और पांच छक्के लगाये. उनके अलावा किंग्स इलेवन का कोई भी अन्य बल्लेबाज 20 रन तक नहीं पहुंच पाया. गेल भी भाग्यशाली रहे. जब उन्होंने खाता भी नहीं खोला था तब उनके खिलाफ पगबाधा की विश्वसनीय अपील ठुकरा दी गयी और बैंगलोर ने रिव्यू न लेकर गलती की. इसके बाद विराट कोहली ने उनका आसान कैच भी छोड़ा.

सुरेश रैना (2013) के बाद गेल दूसरे बल्लेबाज हैं जो आईपीएल में 99 रन पर नाबाद रहे. गेल ने अपनी पारी के दौरान केएल राहुल (18) के साथ पहले विकेट के लिये 66 और मनदीप सिंह (नाबाद 18) के साथ पांचवें विकेट के लिये 60 रन की अटूट साझेदारी की. बैंगलोर के गेंदबाजों विशेषकर युजवेंद्र चहल (33 रन देकर दो), मोइन अली (19 रन देकर एक) और नवदीप सैनी (चार ओवर में 23 रन) की तारीफ करनी होगी जिन्होंने बीच के सात ओवरों में केवल 42 रन देकर गेल की मौजूदगी के बावजूद पंजाब को विशाल स्कोर नहीं बनाने दिया.

गेल ने शुरू में बेहद सहजता से बल्लेबाजी की. पहली आठ गेंदों पर उन्होंने केवल दो रन बनाये थे. वह पिछले कुछ समय से ऐसी शुरुआत करते रहे हैं इसलिए पंजाब के लिये चिंता का विषय नहीं था और गेल ने उमेश यादव की अगली दो गेंदों पर पहले चौका और फिर लांग आन पर छक्का जड़कर इसे साबित भी कर दिया.

क्रिस गेल का रिकॉर्ड, जो सिर्फ सचिन कर पाए उसे ‘यूनिवर्सल बॉस’ ने दोहराया

उन्होंने सबसे कड़ा सबक तो मोहम्मद सिराज (54 रन देकर एक विकेट) को सिखाया. पावरप्ले के अंतिम ओवर में विराट कोहली ने सिराज को गेंद सौंपी थी. गेल ने इस ओवर में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 24 रन बटोरकर स्कोर 60 रन पहुंचा दिया.

चहल पावरप्ले के बाद गेंदबाजी के लिये आये. दूसरे सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने छक्के से उनका स्वागत किया लेकिन अगली गेंद पर लंबा शाट खेलने से चूक गये और बाकी काम विकेटकीपर पार्थिव पटेल ने पूरा कर दिया. राहुल की जगह लेने के लिये उतरे मयंक अग्रवाल (15) भी चहल के अगले ओवर में छक्का जड़ने के बाद अगली गेंद पर बोल्ड हो गये.

धोनी पर 2-3 मैच का प्रतिबंध लगवाना चाहते थे सहवाग

सरफराज खान (15) ने चलन बरकरार रखा. सिराज पर छक्का लगाने के बाद अगली गेंद पर वह विकेट के पीछे कैच दे बैठे. मोइन अली ने हमवतन सैम करेन (एक) को आते ही पवेलियन की राह दिखा दी. बीच के ओवरों में गेल भी कुछ खास नहीं कर पाये. इस बीच जब वह 83 रन पर थे तो कोहली ने उनका आसान कैच भी छोड़ा जिसका जश्न उन्होंने उमेश पर छक्का जड़कर मनाया. उन्हें शतक के लिये आखिरी गेंद पर छक्का चाहिए. गेंदबाज सिराज था लेकिन गेल चौका ही जड़ पाये.