सेंचुरियन: दक्षिण अफ्रीका ने डीन एल्गर और हाशिम अमला के अर्धशतकों की मदद से शुक्रवार को सुपरस्पोर्ट पार्क में पहले टेस्ट मैच में तीन दिन के अंदर ही पाकिस्तान को छह विकेट से हरा दिया. दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 149 रनों का लक्ष्य मिला था जो उसने चार विकेट खोकर हासिल कर लिया और सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली.

एल्गर और अमला ने दूसरे विकेट के लिए 119 रन की साझेदारी निभाई. पार्ट टाइम गेंदबाज शान मसूद ने एल्गर को आउट कर इस भागीदारी का अंत किया जो 50 रन बनाने के बाद अगली गेंद पर आउट हो गए. अमला 63 रन बनाकर नाबाद रहे. दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डुआने ओलिवयर मैन आफ द मैच रहे, जिन्होंने मैच में 96 रन देकर 11 विकेट झटके. पाकिस्तान ने दोनों पारियों में 181 और 190 रन बनाए थे. दक्षिण अफ्रीकी टीम पहली पारी में 223 रन पर सिमट गई थी.

जानना चाहते हैं बुमराह के ‘सिक्सर पंच’ का राज, VIDEO में सुनिए उन्हीं की जुबानी

इस मैच के दौरान दो घटनायें काफी अहम रहीं, जिससे मैच का रुख पलट सकता था. अमला जब आठ रन पर थे, तब तीसरी स्लिप में खड़े फखर जमां ने उनका कैच छोड़ दिया था, जबकि यह गेंद क्षेत्ररक्षक की छाती के पास तक गई थी. अगले ओवर में एल्गर ने शाहीन शाह अफरीदी की गेंद पर बल्ला अड़ाया और पहली स्लिप में खड़े अजहर अली ने डाइव करते हुए कैच लिया. मैदानी अंपायर ब्रूस ऑक्सेनफोर्ड और सुंदरम रवि ने इस फैसले को टीवी अंपायर जोएल विल्सन को रैफर किया. सुपर स्लो क्लोज-अप सहित कई रिप्ले देखने के बाद विल्सन ने कहा कि गेंद बाउंस हुई थी और एल्गर आउट होने से बच गए.

मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन नहीं खिलाने का फैसला गलती नहीं, विराट की स्ट्रैट्जी है

इस फैसले से पाकिस्तानी खिलाड़ी और कोच मिकी आर्थर काफी नाराज हो गए और उन्हें खिलाड़ियों की बालकनी में अपने स्थान से जाते हुए देखा गया. वे पास में मैच रैफरी डेविड बून के कार्यालय में जा रहे थे. टीवी कमेंटेटर माइकल होल्डिंग ने टीवी अंपायर विल्सन की आलोचना की. इसी तरह के हालात में भारतीय कप्तान विराट कोहली को हाल में पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टेस्ट में आउट दे दिया गया था जब टीवी अंपायर नाइजेल लोंग को कोई स्पष्ट सबूत नहीं मिला था और उन्होंने मैदानी अंपायरों के आउट होने के सॉफ्ट सिग्नल को बरकरार रखा था. दूसरा टेस्ट मैच तीन जनवरी से केपटाउन में शुरू होगा.