नई दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्डस की बराबरी करना किसी भी खिलाड़ी के लिए नामुमकिन जैसा है. सचिन दुनिया के एक मात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाए हैं. यूं तो उनके लिए हर शतक खास है. लेकिन 16 मार्च 2012 में मीरपुर वनडे में लगाए शतक की बात कुछ और ही है. यह सचिन का 100वां इंटरनेशनल शतक था, जिसके लिए उन्होंने लम्बा इंतजार किया. 16 मार्च की तारीख इतिहास में दर्ज हो गई.

दरअसल मौका था एशिया कप का. भारतीय टीम एशिया कप 2012 खेलने बांग्लादेश पहुंची थी. टूर्नामेंट का चौथा मुकाबला ढाका के मीरपुर में खेला गया. भारतीय टीम ने पहले बैटिंग करते हुए 5 विकेट खोकर 289 रन बनाए. इस दौरान सचिन ने 147 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौकों और एक छक्के की मदद से 114 रन बनाए. शतक लगाने के बाद सचिन ने भगवान को शुक्रिया कहा. सचिन के इस शतक के बाद विश्वभर में सचिन के फैन्स ने खुशी मनाई. यह सचिन के शतकों का शतक था.

IPL 2019: चेन्नई के खिलाड़ियों का नहीं होगा ‘यो-यो टेस्ट’

सचिन को 100वें शतक के लिए काफी लम्बा इंतजार करना पड़ा. उन्होंने 12 मार्च 2011 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 99वां शतक लगाया और इसके बाद 1 साल और चार दिन तक उन्हें इसी आंकड़े तक सीमित रहना पड़ा. इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मुकाबले खेले. वहीं उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज भी खेली. लेकिन वहां भी 100वें शतक के इंतजार में रहे. लेकिन उनका इंतजार आखिरी खत्म हुआ और बांग्लादेश के खिलाफ शतक जड़कर इतिहास रच दिया.

बता दें कि सचिन ने 452 वनडे पारियों में 49 शतक जड़े हैं. इस दौरान उन्होंने 18426 रन बनाए. सचिन का सर्वश्रेष्ठ वनडे स्कोर नाबाद 200 रन है. उन्होंने वनडे में 96 अर्धशतक भी जड़े हैं. इसके अलावा उन्होंने 329 टेस्ट पारियों में 15921 रन बनाए. इस दौरान सचिन ने 51 शतक और 68 अर्धशतक लगाए हैं. सचिन का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर नाबाद 248 रन है. इसके अलावा वो घरेलू मैचों में अद्भुत प्रदर्शन कर चुके हैं.