मुंबईः महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि उन्होंने अपने कैरियर में कभी ‘शार्टकट’ नहीं लेने की अपने पिता की सलाह पर हमेशा अमल किया और अब यही सलाह उन्होंने अपने बेटे को दी है. सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर ने हाल ही में टी20 मुंबई लीग खेला जिसमें बल्ले और गेंद दोनों से अच्छा प्रदर्शन किया.

उसे आकाश टाइगर मुंबई पश्चिम उपनगर टीम ने पांच लाख रूपये में खरीदा था. उसने शनिवार को वानखेड़े स्टेडियम पर सेमीफाइनल भी खेला. यह पूछने पर कि क्या वह अपने बेटे को दबाव का सामना करने के लिए कोई सीख देते हैं, सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘मैने कभी उस पर किसी चीज के लिए दबाव नहीं डाला. मैने उस पर क्रिकेट खेलने का भी दबाव नहीं बनाया. वह पहले फुटबाल खेलता था, फिर शतरंज और अब क्रिकेट खेलने लगा.’

उन्होंने कहा, ‘मैने उससे यही कहा कि जीवन में जो भी करो, शार्टकट मत लेना. मेरे पिता (रमेश तेंदुलकर) ने भी मुझे यही कहा था और मैने अर्जुन से यही कहा. तुम्हे मेहनत करनी पड़ेगी और फिर तुम पर निर्भर करता है कि कहां तक जाते हो.’ उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि दूसरे माता पिता की तरह वह भी चाहते हैं कि उनका बेटा अच्छा प्रदर्शन करे.

(इनपुट-भाषा)