पूर्व ऑस्ट्रेलियाी तेज गेंदबाज ब्रेट ली (Brett Lee) का कहना है कि वो भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के खिलाफ गेंदबाजी करने का बेहद पसंद करते थे। तेंदुलकर और ली का मुकाबला क्रिकेट के कुछ शानदार मुकाबलों में से एक था। ली ने कहा कि तेंदुलकर के खिलाफ प्रतिद्वंद्विता करने के लिए भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता था। Also Read - रविवार को अपने वतन लौट सकते हैं आईपीएल में हिस्सा लेने आए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, “मेरा वनडे रिकॉर्ड मेरे टेस्ट रिकॉर्ड से बेहतर था क्योंकि मुझे टेस्ट के मुकाबले वनडे में ज्यादा मौके मिले। मैं 8 महीनों तक 12वां खिलाड़ी था। जब मैं अपनी शीर्ष पर था, 160 kph की गति से गेंदबाजी कर रहा था तब मैंने 2005 और 2006 का काफी सीजन मिस कर दिया। इसलिए मेरा टेस्ट करियर प्रभावित हुआ लेकिन मुझे लगता है कि मेरी गेंदबाजी शैली वनडे क्रिकेट के लिए ज्यादा सही है। और मुझे याद है कि सचिन तेंदुलकर के खिलाफ गेंदबाजी करने का मौका पाकर मैं बेहद उत्साहित था।” Also Read - Rahul Dravid के मुरीद हुए Greg Chappell, तारीफ में कही ये बातें

पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, “मैं ये निश्चित करना चाहता था कि मैं अपनी शीर्ष पर हूं। अगर आप सर्वश्रेष्ठ के साथ मुकाबला करना चाहते हैं तो आपतो अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा। और जब मैं सचिन के खिलाफ खेल रहा होता था तो ज्यादातर समय मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देता था क्योंकि वो हमेशा ही मेरे अंदर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन बाहर लाता था।” Also Read - International Nurses Day के मौके पर Sachin Tendulkar का ट्वीट, लिखा ये इमोशनल मैसेज

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने अपने करियर के दौरान सचिन को 30 वनडे मैचों में बार आउट किया। वहीं टेस्ट में ली ने 5 बार तेंदुलकर का विकेट लिया है।

इस पर उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि सचिन के खिलाफ मेरा रिकॉर्ड अच्छा है लेकिन रनों के मामले में मेरे खिलाफ उसका रिकॉर्ड कहीं अच्छा है। वो हमेशा ही मेरे लिए एक अच्छा मुकाबला होता था। मैं उस मुकाबला का काफी आनंद लेता था।”