‘क्रिकेट के भगवान’ कहे जाने वाले सचिन ने अपने करियर में दुनिया हर बेहतरीन गेंदबाज के खिलाफ जमकर रन बनाए और सब पर हावी होकर खेले. लेकिन शायद ये जानकर आपको हैरानी होगी कि सचिन एक दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज का सामना नहीं करना चाहते थे. Also Read - जडेजा-अश्विन एक साथ भी खेल सकते हैं, धीमी पिच के बावजूद वार्न-मुरलीधरन विकेट निकालते थे: सचिन

मुंबई में हुए एक प्रमोशनल इवेंट में मास्टर ब्लास्टर ने खुलासा किया उन्हें दक्षिण अफ्रीक के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए का सामना करना पसंद नहीं था और उनके सामने वह स्ट्राइक लेने से कतराते थे. Also Read - World Blood Donor Day: Sachin Tendulkar ने भी किया रक्तदान, लोगों से की अपील

सचिन ने कहा, ‘जब से मैंने खेलना शुरू किया तब से कम से कम 25 विश्वस्तरीय गेंदबाजों का मैंने सामना किया. लेकिन जिनके खिलाफ बल्लेबाजी करने से मैं कतराता था वह हैंसी क्रोनिए थे. किसी न किसी कारण से मैं उनकी गेंद पर आउट हो जाता था और मुझे महसूस होने लगा था कि मैं गेंदबाजी छोर पर खड़ा ही अच्छा हूं.’ Also Read - 1992 वर्ल्ड कप में सचिन तेंदुलकर को टीवी पर देखकर उनकी नकल उतारता था: Virender Sehwag

सचिन ने कहा, ‘पिच पर जो भी दूसरा बल्लेबाज होता था मैं उससे कहता था कि अगर गेंदबाजी के लिए पोलाक या डोनाल्ड आएं तो मैं उनका सामना कर लूंगा लेकिन क्रोनिए की गेंद पर स्ट्राइक तुम ही रखो.’

क्रोनिए ने सचिन को 32 वनडे में तो सिर्फ तीन बार आउट किया लेकिन 11 टेस्ट मैचों में उन्होंने तेंदुलकर को पांच बार आउट किया.

सचिन ने अपने 24 साल के करियर में 1999 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे को सबसे मुश्किल करार दिया और कहा कि स्टीव वॉ की उस ऑस्ट्रेलियाई टीम में सात-आठ मैच विजेता खिलाड़ी मौजदू थे. उनकी खेलन की अपनी शैली थी और वे काफी आक्रामक थे, ये ऐसी टीम थी जिसने विश्व क्रिकेट में लंबे समय तक अपना दबदबा कायम किया. उस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया ने सचिन की कप्तानी वाली टीम इंडिया को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से हरा दिया था.