नई दिल्ली, 19 अगस्त।” दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने शुक्रवार को कहा कि बेहतर परिणामों के लिए भारतीय खिलाड़ियों को समर्थन देना जरूरी है। उन्होंने कहा कि ब्राजील में जारी रियो ओलम्पिक में भले ही कुछ स्पर्धाओं के परिणाम उम्मीद के मुताबिक न रहे हों लेकिन देशवासियों को भारतीय एथलीटों का समर्थन करना चाहिए, ताकि वह भविष्य में अच्छा प्रदर्शन कर सकें। यहां एक समारोह के दौरान सचिन ने संवाददाताओं से कहा, “इस वर्ष रियो ओलम्पिक में कुछ स्पर्धाओं में मिले परिणाम भले ही हमारी उम्मीद के मुताबिक न रहे हों, लेकिन अगर हमें भविष्य में भारतीय एथलीटों को अच्छा प्रदर्शन करते देखना है तो हमें उनका समर्थन देना होगा।” Also Read - मैच खेलने के लिए हाथों में सुई लगवा रहे हैं सचिन, वीरेंद्र सहवाग से बोले युवराज सिंह, 'भाई तू शेर है पर वो है बब्बर शेर'; देखें ये मजेदार वीडियो

Also Read - Road Safety World Series T20 INDL vs BANL: पुराने अंदाज में दिखी सचिन-सहवाग की जोड़ी, वीरू ने 20 गेंदों में जड़ी फिफ्टी; 10 विकेट से जीता भारत

इसके साथ ही सचिन ने इस वर्ष रियो ओलम्पिक में भारत की झोली में पहला पदक डालने वाली फ्रीस्टाइल महिला पहलवान साक्षी मलिक को बधाई भी दी। भारत के लिए महिला कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाली 23 साल की साक्षी ने किर्गिस्तान की अइसुलू टाइबेकोवा को 58 किलोग्राम वर्ग में पराजित किया। उन्हें बधाई देते हुए सचिन ने कहा कि उन्होंने देश और देशवासियों को गौरवान्वित किया है। सचिन ने इसके अलावा 31वें ओलम्पिक खेलों में बैडमिंटन स्पर्धा में महिला एकल वर्ग के फाइनल में पहुंच चुकी दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु को शुभकामनाएं दी। यह भी पढ़े-पीवी सिंधु की तारीफ में सहवाग ने क्या कमाल का ट्वीट किया, पूरा देश कर रहा है तारीफ Also Read - Road Safety World Series 2021: जानें TV पर कैसे देख सकेंगे मैच, टाइमिंग और पूरा शेड्यूल

रियोसेंटर पवेलियन-4 में खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में गुरुवार को सिंधु ने छठी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी जापान की निजोमी ओकुहारा को सीधे गेमों में 21-19, 21-10 से जीत हासिल करते हुए फाइनल का टिकट पक्का कर लिया। इस पर रियो ओलम्पिक के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सद्भावना दूत सचिन ने कहा, “भारत के लिए पदक जीतने हेतु सिंधु जिस प्रकार से भरसक प्रयास कर रही हैं, वह सराहनीय है।”

बैडमिंटन के महिला एकल वर्ग के फाइनल में सिंधु का मुकाबला भारतीय समयानुसार शुक्रवार शाम सात बजे स्पेन की कैरोलिना मारिन से होगा। समारोह में सचिन से जब भारतीय पहलवान नरसिंह यादव के डोपिंग मामले से संबंधित सवाल के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने किसी प्रकार की प्रतिक्रिया से इनकार कर दिया।

विश्व की सबसे बड़ी खेल अदालत-कोर्ट फॉर आर्ब्रिटेशन फॉर स्पोर्ट (सीएएस) ने भारतीय पहलवान नरसिंह को डोपिंग मामले में क्लीन चिट दिए जाने के खिलाफ दायर विश्व डोपिंग निरोधी एजेंसी (वाडा) की अपील को स्वीकार करते हुए उन पर चार साल का प्रतिबंध लगाया है। सचिन के अलावा सलमान खान, अभिनव बिंद्रा और ए.आर. रहमान को भी भारतीय प्रतिनिधमंडल का सद्भावना दूत बनाया गया है।