इंडियन आर्मी ने कश्‍मीर के लोगों में विश्‍वास बहाली के लिए अनंतनाग जिले में महिला क्रिकेट लीग (Women Cricket League) का आयाेजन किया है. यह लीग आनंतनाग के डोरू टाउन में खेली जाएगी. मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) सेना के इस कदम से काफी खुश हैं. उन्‍होंने सोशल मीडिया पर इसकी जमकर तारीफ की. Also Read - On This Day: विराट कोहली बने थे वनडे में सबसे तेज 10 हजार रन बनाने वाले बल्‍लेबाज, ये खिलाड़ी है नंबर-2

इरफान पठान (Irfan Pathan) भी इसकी तारीफ करने से खुद को रोक नहीं पाए. भारतीय सेना की उत्तरी कमान के 19 राष्ट्रीय राइफल्स की तरफ से इस टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है. Also Read - जम्मू कश्मीर: भारतीय सेना ने चीन में बने पाकिस्तान आर्मी के क्वाडकॉप्टर को मार गिराया

गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) असीम फाउंडेशन ने भारतीय सेना के साथ भागीदारी कर महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने और कोविड-19 के कारण जम्मू-कश्मीर में ठप्प पड़ी खेल गतिविधियों को फिर से शुरू करने के मकसद से इसका आयोजन किया था. Also Read - सचिन, विराट, धवन से लेकर युवराज सिंह ने की कपिल देव के जल्द स्वस्थ होने की कामना, जानें किसने क्या कहा

विज्ञप्ति के मुताबिक, ‘‘ यह नॉकआउट लीग थी, जिसमें डोरू, अनंतनाग और कुलगाम से 4 टीमों ने भाग लिया था. लीग मैचों के बाद बुधवार को फाइनल खेला गया. इस प्रतियोगिता में कुल मिलाकर 70 से अधिक खिलाड़ियों ने भाग लिया.’’

इस पहल का अनंतनाग की रूबिया सैय्यद और वरिष्ठ पत्रकार सुनंदन लेले ने भी समर्थन किया. उत्तरी कमान के कर्नल धर्मेंद्र यादव ने प्रतिभागियों के प्रदर्शन की सराहना की.

तेंदुलकर ने एक वीडियो संदेश में कहा, ‘‘ मैं टूर्नामेंट के आयोजन के लिए भारतीय सेना की 19 राष्ट्रीय राइफल्स और असीम फाउंडेशन को बधाई दूंगा. मैं कड़ी मेहनत कर इस टूर्नामेंट में भाग लेने वाली सभी महिला क्रिकेटरों की सराहना करता हूं. इस खेल की सुंदरता यह है कि यह पुरुष और महिला नहीं बल्कि आपकी प्रतिभा और मेहनत देखता है.’’

जम्मू कश्मीर रणजी टीम के मेंटोर पठान ने कहा कि इससे नयी प्रतिभा को परखने का मौका मिलेगा.

वहीं इरफान पठान ने कहा, ‘‘ मैंने यहां काफी समय बिताया है और मैं यह कह सकता हूं कि इस क्षेत्र में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. मैं इन महिलाओं को मौका देने के लिए 19 राष्ट्रीय राइफल्स और असीम फाउंडेशन को धन्यवाद देना चाहता हूं.’’