नई दिल्ली. मेलबर्न टेस्ट (Melbourne Test) के दूसरे दिन भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) 106 रन बनाकर पवेलियन लौटे. वो पैट कमिंस की गेंद पर आउट हुए. मतलब ये कि पैट कमिंस ने उनका विकेट लिया नहीं उनको मिल गया. पुजारा (Pujara) का विकेट दिलाने में पैट कमिंस की मदद की मेलबर्न की पिच ने. Also Read - IPL 2020: किंग्स इलेवन पंजाब के इस फैसले से हैरान हैं सचिन तेंदुलकर, बोले- इस खिलाड़ी को बाहर क्यों रखा?

मेलबर्न में पैट कमिंस की जिस गेंद ने पुजारा की गिल्लियां बिखेरी वो दरअसल पिच से बाउंस नहीं मिलने की वजह से नीची रह गई. पुजारा को पिच से इस तरह की उम्मीद नहीं थी यही वजह है कि आउट होने के बाद वो हैरान भी दिखे.

ऑस्ट्रेलिया ने उठाया विराट के कमर दर्द का फायदा, विकेट के लिए 15 मिनट तक फेंकी ‘छोटी गेंद’

पुजारा ने जड़ा सबसे धीमा शतक

पुजारा जब आउट हुए उस वक्त वो 319 गेंदों पर 106 रन बनाकर खेल रहे थे. ये उनके टेस्ट करियर का 17वां शतक तो था ही साथ ही सबसे धीमा शतक भी था.

सचिन की भविष्यवाणी

मेलबर्न की पिच ने पुजारा को धोखा देकर कमिंस का साथ जरूर दिया लेकिन सचिन तेंदुलकर का कहना है कि अब यही धोखा टीम इंडिया को जीत का मौका भी देगी. पुजारा के शतक की तारीफ करते हुए सचिन ने ट्वीट किया कि पिच पर अनइवेन बाउंस का होना भारत के लिए अच्छी खबर है.

सचिन ने अपने ट्वीट में एक और अच्छी पार्टनरशिप की बात की है जो कि अगर हो गई तो फिर टीम इंडिया को मिशन 500 की दहलीज लांघने से कोई नहीं रोक सकता है. इसका ये मतलब होगा कि मेलबर्न फिर भारत की मुट्ठी में होगा. क्योंकि, पिच का मिजाज अगर पुजारा के जमे पांव उखाड़ सकता है तो ऑस्ट्रेलिया को सरेंडर करने पर भी मजबूर कर सकता है.