‘क्रिकेट के भगवान’ कहे जाने वाले भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के नाम ऐसे कई रिकार्ड्स है जिनके आस-पास भी कोई नहीं भटकता. पूरी दुनिया जिसके खेल की मुरीद है उसने आज के ही दिन वनडे मैच में अपना पहला शतक लगाया था. सचिन के नाम उसके बाद उनकी करियर में सैकड़ों शतक रहे. आश्चर्य करने वाली बात तो ये है कि इस पहले शतक को ढूंढ़ने में ‘मास्टर ब्लास्टर’ को पांच साल लग गए थे. साल 1994 के नौ सितंबर को अपने करियर का 77 मैच खेलने के बाद सचिन ने पहला वनडे शतक जड़ा था.

सचिन का पहला वनडे शतक श्रीलंका में चल रहे सिंगर वर्ल्ड सीरीज (Singer World Series) में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आया था. इस मैच में सचिन ने खुद को क्रीज पर इस तरीके से जमाए रखा था जैसे मानो इस दफा एक लंबे सब्र का बांध टूटने वाला हो. ओपनिंग करने आए सचिन धीरे धीरे टीम को संभालते हुए एक मजबूत स्कोर की तरफ ले जाने में कामयाब रहें. 119वीं  गेंदों पर सचिन ने अपना पहला वनडे शतक लगाकर अपनी कौशलता और अपने सब्र का प्रमाण दे दिया था. करियर के पांच साल बाद के इस पहले शतक की ऊर्जा से पूरा स्टेडियम खिल उठा था. सचिन ने 130 गेंदों में 110 रन बनाए थे जिसमे आठ चौके और दो छक्के शामिल थे.

जीत गई थी टीम इंडिया 

सचिन के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने 50 ओवर में 246 रनों का एक सम्मानजनक स्कोर बना लिया था. फिर भारतीय गेंदबाजों ने अपना जलवा बिखेरते हुए ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम को 215 रनों पर ऑल-आउट कर दिया था.  इस मैच के ‘मैन ऑफ द मैच’ बने सचिन तेंदुलकर ने अपनी मेहनत और लगन से भारतीय क्रिकेट को एक नया पंख दिया. पांच साल के इंतजार के बाद आया सचिन का ये शतक दुनिया कभी नहीं भूलेगी. शुन्य से एक और एक से ये वनडे शतकों का सफर 49 शतकों तक पहुंचा.