आईसीसी (ICC New Rules) ने मंगलवार को कोरोनाकाल में नए नियमों के साथ खेल को शुरू करने की घोषणा कर दी है. अब टेस्‍ट मैच में प्रत्‍येक टीम अतिरिक्‍त खिलाड़ी के साथ किसी भी दौरे पर जा सकेगी. वहीं, गेंदबाजों के लिए लार का इस्‍तेमाल करने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है. मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर ने थूक पर रोक के बारे आईसीसी के समक्ष नई डिमांड रखी है. Also Read - विराट कोहली ने शुरू किया वर्कआउट; खोला अपनी फिटनेस का राज

तेंदुलकर का कहना है कि टेस्ट क्रिकेट में सपाट पिचों पर मदद के लिये हर 50वें और 55वें ओवर के बाद दूसरी नयी गेंद ली जानी चाहिये. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्टार क्रिकेटर ब्रेट ली से सोशल मीडिया प्लेटफार्म 100 एमबी पर बातचीत में तेंदुलकर ने गेंद को चमकाने में लार की जरूरत और पसीने के इस्तेमाल में चुनौतियों पर बोल रहे थे. Also Read - ...जब जवागल श्रीनाथ का मूड ठीक करने के लिए सचिन ने की ये शरारत, हेमांग बदानी ने सुनाया पूरा किस्सा, VIDEO देखें

सचिन ने कहा ,‘ टेस्ट क्रिकेट में अगर पिच अच्छी नहीं है तो खेल का स्तर गिर जाता है . इसके अलावा खेल धीमा हो जाता है क्योंकि बल्लेबाज को पता होता है कि मूर्खतापूर्ण शॉट नहीं खेलने पर मुझे कोई आउट नहीं कर सकेगा और गेंदबाज को पता होता है कि उसे संयम से काम लेना है .’’ Also Read - राहुल-गांगुली के डेब्‍यू के साथ ही इस इंग्लिश ऑलराउंडर ने झटके थे लगातार 4 विकेट, लगाया सैंकड़ा

उन्होंने कहा ,‘‘खेल को रोचक बनाये रखने के लिये हर 45 या 50 या 55 ओवर के बाद नयी गेंद लेनी चाहिये क्योंकि वनडे में 50 ओवर में हम दो नयी गेंद लेते हैं यानी हर 25 ओवर के बाद एक नयी गेंद.’’