नई दिल्ली: इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में खेले गए टेस्ट सीरीज के पहले मैच में विराट कोहली ने शानदार प्रदर्शन किया. उन्होंने पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में अर्धशतक लगाया. उनके बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने कोहली को एक सुझाव दिया. सचिन का कहना है कि उन्हें अपने दिल की सुननी चाहिए और अपनी शानदार बल्लेबाजी जारी रखनी चाहिए. भारतीय टीम इस समय इंग्लैंड के दौरे पर है और पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में हिस्सा ले रही है. पहले टेस्ट में उसे हार का सामना करना पड़ा था. Also Read - IPL 2020: कप्तान कोहली ने बताया- आखिरी समय पर लिया था सिराज को नई गेंद देने का फैसला

Also Read - शिखर धवन ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में पूरे किए 10 साल, फैन्‍स के साथ इस तरह शेयर की स्‍पेशल मूमेंट की खुशी

तेंदुलकर की कोहली को यह सलाह लॉर्ड्स में गुरुवार से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट मैच से पहले आई है. पहले टेस्ट में भारतीय बल्लेबाजों में से सिर्फ कोहली का ही बल्ला चला था. उन्होंने पहली पारी में 149 और दूसरी पारी में 51 रन बनाए थे और इसी प्रदर्शन के दम पर आईसीसी टेस्ट बल्लेबाजों की रैकिंग में पहला स्थान हासिल किया था. तेंदुलकर ने कहा, “मैं कहूंगा कि उन्हें वही करना चाहिए जो वह करते आ रहे हैं. वह शानदार काम कर रहे हैं इसलिए उन्हें वैसे ही खेलते रहना चाहिए.” Also Read - Happy Birthday Virender Sehwag: टेस्ट क्रिकेट में 2 ट्रिपल सेंचुरी जड़ने वाले इकलौते भारतीय हैं 'नजफगढ़ के नवाब', यहां देखें उनके कुछ चुनिंदा रिकॉर्डस

विराट कोहली को ‘तेंदुलकर’ ने कराया अभ्यास, लॉर्ड्स की लड़ाई के लिए किया तैयार, VIDEO

उन्होंने कहा, “आस-पास क्या हो रहा है इस बारे में न सोचें और अपना ध्यान उस चीज पर लगाएं जो हासिल करना हैं और अपने दिल की आवाज सुनें.” पूर्व कप्तान ने कहा, “साथ में काफी कुछ चीजें कही जाती हैं, लेकिन अगर आप जो हासिल करना चाहते उसे पाने के लिए जुनूनी हो तो परिणाम आपके हक में होता है.” तेंदुलकर ने हालांकि कोहली को कहा कि उन्हें आराम से नहीं बैठना है.

उन्होंने कहा, “मैं अपने अनुभव से कह सकता हूं आप कितने भी रन बना लो यह रन काफी नहीं होंगे.” उन्होंने कहा, “आपको ज्यादा रनों की जरूरत होती है और यही विराट के साथ है. चाहे जितने भी रन आप बना लो वो काफी नहीं होते.”

धोनी ने वर्ल्ड क्रिकेट में विराट कोहली की ‘श्रेष्ठता’ पर दिया धमाकेदार बयान

टेस्ट में सबसे ज्यादा रन और शतक बनाने वाले तेंदुलकर ने कहा, “जब आप संतुष्ट हो जाते हो तो आपका बुरा समय शुरू हो जाता है, इसलिए आप बल्लेबाज हो तो कभी संतुष्ट मत हो. गेंदबाज सिर्फ 10 विकेट ले सकता है, लेकिन बल्लेबाज को रन बनाने होते हैं इसलिए संतुष्ट नहीं होना चाहिए. साथ में खुश रहो.”