नई दिल्ली : टीम इंडिया के दिग्गज विकेटकीपर बैट्समैन महेन्द्र सिंह धोनी साल 2018 में अब तक 20 वनडे मैच खेल चुके हैं, जिनमें 275 रन बनाए हैं. इस साल उनका सर्वाधिक स्कोर 42 रन रहा. इसलिए यह साल उनके लिए काफी खराब रहा. उनके इस प्रदर्शन को लेकर सवाल उठने लगे. धोनी के भविष्य को लेकर भी कई तरह के कयास लगाए जाने लगे. इस बीच धोनी को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 सीरीज के लिए टीम में शामिल नहीं किया गया. इस भारत के पूर्व महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने प्रतिक्रिया दी. उन्होंने धोनी के भविष्य के बारे में भी बात की. Also Read - प्रधानमंत्री मोदी से मीटिंग में सचिन ने उठाया अहम मुद्दा, 'लॉकडाउन के बाद हमें करना होगा ये काम'

सचिन ने कहा, “मैं कभी कोई फैसला नहीं सुनाता. पहले भी मैंने कभी इस तरह की बातें नहीं की कि चयनकर्ताओं को क्या करना चाहिए. धोनी क्रिकेट के सभी प्रारूप में हमेशा से खतरनाक खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने इतने वर्षो में इसकी जिम्मेदारी भी ली है. मुझे हमेशा से लगता है कि जो खिलाड़ी इतने लंबे समय तक खेलता है, उसे पता होता है कि उसे क्या करने की जरूरत है.” Also Read - करीबी दोस्‍त का खुलासा, रिटायरमेंट के बारे में बात करने पर गुस्‍सा हो जाते हैं धोनी...

रायडू और खलील को लेकर कप्तान कोहली ने बनाया थी योजना Also Read - विश्व कप 2011 के ट्वीट में धोनी और उनका नाम ना लिखने पर युवराज सिंह ने रवि शास्त्री की टांग खींची

उन्होंने कहा, “मैं भी उस स्थिति में रहा हूं. मैं जानता था कि मुझे क्या करने की जरूरत है. आप ड्रेसिंग रूम में बैठते हैं और अपने दोस्तों से विचार करते हैं. अपने कोच से कई चीजों पर चर्चा करते हैं और आप काफी हद तक जानते हैं कि आपको क्या करना है. मेरा मानना है कि धोनी बहुत अच्छे से जानते हैं कि क्या चल रहा है और उतने ही ठोस तरीके से जानते हैं कि क्या करने की जरूरत है.”

कोहली 15वीं बार बने ‘मैन ऑफ द सीरीज’, कालिस की बराबरी की

बता दें कि धोनी ने अब तक 332 वनडे मैच खेले हैं, जिनमें 10173 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 10 शतक और 67 अर्धशतक भी जड़े हैं. धोनी ने वनडे मैचों में 50.11 के औसत से रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 87.9 का स्ट्राइक रेट भी बरकरार रखा है. अहम बात यह भी है कि धोनी ने टीम इंडिया के लिए 329 वनडे मैच खेलते हुए 9999 रन बना लिए हैं. वो 10 हजार रन पूरा करने से एक रन दूर हैं. धोनी ने भारत के लिए खेलते हुए 9 शतक और 67 अर्धशतक लगाए हैं.