मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने विश्व कप जैसे टूर्नामेंटों में नॉकआउट चरण ( knockout games) में फैसला बाउंड्री की गिनती के आधार पर करने के नियम को खत्म करने के इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी)  (International Cricket Council’s decision) के फैसले का स्वागत किया है.

लारा ने बताया किस दिग्‍गज बल्‍लेबाज ने उन्‍हें क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया

आईसीसी (ICC) ने सोमवार को सुपर ओवर के नियम में बदलाव करने का फैसला किया. जुलाई में आईसीसी के 12वें क्रिकेट विश्व कप फाइनल ( World Cup final ) में इंग्लैंड को बाउंड्री की गिनती के आधार पर न्यूजीलैंड पर विजयी घोषित करने के फैसले का काफी विरोध हुआ था.

दुबई में बोर्ड की बैठक के बाद आईसीसी ने फैसला किया कि भविष्य में वैश्विक टूर्नामेंटों में सुपर ओवर ( Super Overs) में भी मैच टाई रहने पर फैसला आने तक सुपर ओवर जारी रखेंगे.

तेंदुलकर ने सोशल मीडिया के अपने ऑफिशियल टिवटर अकाउंट से ट्वीट (Tendulkar tweeted) किया, ‘मुझे लगा कि यह अहम है क्योंकि एकदम कांटे की टक्कर होने पर नतीजा लाने का यही सही तरीका है.’


विश्व कप फाइनल के दो दिन बाद तेंदुलकर ने कहा था कि बाउंड्री गिनने की बजाय विजेता के निर्धारण के लिए दूसरा सुपर ओवर खेला जाना चाहिए था.

भाजपा अध्यक्ष शाह से मिलने बाद सौरव गांगुली ने भाजपा में शामिल होने के सवाल पर कही ये बात

तेंदुलकर ने अपने पूर्व साथी क्रिकेटर सौरव गांगुली ( Sourav Ganguly) को भी बीसीसीआई (BCCI) का अगला अध्यक्ष बनने की बधाई दी.

उन्होंने कहा, ‘बीसीसीआई अध्यक्ष बनने पर बधाई दादी. मुझे यकीन है कि आप भारतीय क्रिकेट की सेवा करते रहोगे जैसे कि हमेशा करते आये हो. नई टीम को बधाई.’


बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के अध्यक्ष गांगुली पूर्व भारतीय बल्लेबाज ब्रजेश पटेल को पीछे छोड़ बीसीसीआई (BCCI) के शीर्ष पद के लिए नामांकन भरने वाले इकलौते उम्मीदवार हैं.