थाईलैंड ओपन (Thailand Open 2021) से खबर कुछ रोमांचक आ रही है. मंगलवार सुबह जानकारी दी गई थी कि कि स्टार शटलर साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और एचएस प्रणॉय (HS Prannoy) कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और अब वे इस टूर्नामेंट में भाग नहीं ले पाएंगे. इतना ही नहीं पारूपल्ली कश्यप (Parupalli Kashyap) साइना के संपर्क में आए थे इसलिए उनका टेस्ट नेगेटिव आने के बावजूद उनके भी टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पर रोक लगा दी गई थी. लेकिन अब ताजा रिपोर्ट यह है कि तीनों खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में भाग ले सकते हैं.Also Read - Badminton Star Tasnim Mir: ‘तसनीम मीर’ ने बनाया वो रिकॉर्ड जो भारत का कोई और खिलाड़ी नहीं बना सका

मंगलवार सुबह जानकारी दी गई कि साइना और प्रणॉय को कोविड-19 के तीसरे दौर के टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया है. लेकिन शाम होते-होते खबरें आई हैं कि ये खिलाड़ी इस घातक वायरस से संक्रमित नहीं हैं. अब ये तीनों खिलाड़ी बुधवार को अपने-अपने मैच खेल सकेंगे. Also Read - India Open 2022: अश्मिता को PV Sindhu और प्रणॉय को लक्ष्य सेन ने हराकर सेमीफाइनल में की एंट्री

टूर्नामेंट के आयोजकों ने भारतीय प्रबंधकों को इस बात की यह जानकारी दे दी है. टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक साइना और प्रणॉय के टेस्ट क्लियर हैं और अब वे बुधवार को अपने मैचों में हिस्सा लेंगे. इससे पहले मंगलवार को इन तीनों खिलाड़ियों को हॉस्पिटल में क्वॉरंटीन में रहने को कहा गया था. Also Read - India Open 2022: PV Sindhu क्वॉर्टर फाइनल में, Saina Nehwal बाहर

इन तीनों खिलाड़ियों को बीते महीने अपने एक दोस्त और इंटरनेशनल बैडमिंटन खिलाड़ी RMV गुरुसाईदत्त की शादी में जाने से कोरोना का संक्रमण हुआ था. तब इस इस वायरस से उबरने के लिए इन तीनों खिलाड़ियों ने क्वॉरंटीन में रहकर अपना इलाज कराया और इससे उबरने के बाद वे बैंकॉक में आयोजित हो रहे इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पहुंचे.

यहां वे शुरुआती दो दौर के टेस्ट में नेगेटिव आए,जबकि तीसरे टेस्ट में साइना और प्रणॉय का टेस्ट पॉजिटिव पाया गया. हालांकि कश्यप का टेस्ट निगेटिव था लेकिन वह अपनी पत्नी के संपर्क में आए थे, इसके चलते उन पर इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पर रोक लगा दी गई.

लेकिन अब खबर आई है कि देर शाम थाईलैंड के एक उच्च स्तरीय मेडिकल कमिटी ने इस मामले पर गौर किया और इन तीनों खिलाड़ियों के इस टूर्नामेंट में भाग लेने को हरी झंडी दिखा दी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की इस रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय टीम के एक सूत्र ने इसकी वजह बताते हुए कहा, ‘जब आप वायरस से संक्रमित होते हैं और बाद में सही होकर टेस्ट नेगेटिव आता है, तब भी इस वायरस का मृत प्रोटीन संक्रमित हुए व्यक्ति के शरीर में मौजूद रहा है. इस स्थिति में कई बार वायरस के मृत होने पर भी व्यक्ति का टेस्ट पॉजिटिव आ सकता है. साइना और प्रणॉय के मामले में भी यही हुआ है.’

इस अधिकारी ने आगे कहा, ‘शुक्र है कि बिना किसी नुकसान के समय रहते उन्हें ग्रीन सिग्नल दे दिया गया. हमें अभी तक इस मामले की पूरी जानकारी का इंतजार है लेकिन आयोजकों की ओर से हमारे खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए कह दिया गया है.’