नई दिल्ली: हाल के वर्षों में सबसे सफल घरेलू कोच रहे सनथ कुमार को इसका कारण पता नहीं चल पा रहा है कि आखिर इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी स्थानीय सहयोगी स्टाफ को नियुक्त करने में क्यों आशंकित रहती हैं जिनमें ट्रेनर और फिजियो भी शामिल हैं. कर्नाटक के पूर्व तेज गेंदबाज 55 वर्षीय सनथ ने राष्ट्रीय चैंपियनशिपों में कमजोर टीमों को सफलता दिलायी है. Also Read - BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने T20 क्रिकेट को लेकर दिया बयान, बोले-यदि मैं भी खेल रहा होता तो करना पड़ता ये काम

Also Read - विराट कोहली को हितों के टकराव मामले में फंसाने की कोशिश पर भड़का BCCI

असम को रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल (2015-16) में पहुंचाना उनके करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि रही. आंध्र को इस साल विजय हजारे ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंचाना भी कोई छोटी उपलब्धि नहीं कही जा सकती. कुछ साल पहले बड़ौदा की सैयद मुश्ताक अली टी20 में खिताबी जीत को भी नहीं भुलाया जा सकता है. Also Read - धोनी भाई के साथ खेलकर पिच को पढ़ना सीखा : कुलदीप यादव

मोर्ने मोर्कल ने किया संन्यास का ऐलान, जानें कब खेलेंगे आखिरी इंटरनेशनल मैच

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर (आरसीबी) के साथ तीन साल तक सहायक कोच रहने के बावजूद आईपीएल की किसी फ्रेंचाइजी ने उनकी सेवा नहीं ली. आईपीएल की आठ में से सात फ्रेंचाइजी के शीर्ष कोच विदेशी हैं.

सनथ ने कहा, ‘‘यह इंडियन प्रीमियर लीग है और इसमें अधिकतर सहयोगी स्टाफ भारतीय होना चाहिए. बिग बैश लीग (बीबीएल) को देखिये जहां अधिकतर सहयोगी स्टाफ ऑस्ट्रेलियाई है. नेटवेस्ट टी20 (इंग्लैंड) में अधिकतर इंग्लैंड का सहयोगी स्टाफ है और कैरेबियाई प्रीमियर लीग स्थानीय प्रतिभा का उपयोग करता है लेकिन भारत में हम अपने लोगों पर ध्यान नहीं देते.’’

IPL2018: पंजाब के कप्तान बने अश्विन, कहा मेरे लिए यह सम्मान की बात

गौरतलब है कि इंडियन प्रीमियर लीग में दो साल बाद वापसी कर रहे पूर्व चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स और गत चैंपियन मुंबई इंडियन्स इस टी20 लीग के 11वें सीजन की शुरुआत करेंगे. यह मुकाबला सात अप्रैल को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगा. भ्रष्ट गतिविधियों में लिप्त होने के कारण चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स 2016 और 2017 में लीग से निलंबित रही थी.

राजस्थान रॉयल्स की टीम भी दो साल के निलंबन के बाद इस वर्ष टूर्नामेंट में वापसी कर रही है. पहला क्वालि‍फायर और फाइनल मुकाबले क्रमश: 22 और 27 मई को वानखेड़े स्टेडियम में होंगे. एलिमिनेटर और दूसरे क्वालिफायर मुकाबले कहां होंगे, अभी इसकी घोषणा नहीं की गई है. (एजेंसी इनपुट के साथ)