बेंगलुरू: सानिया मिर्जा इस साल के अंत तक टेनिस के मैदान पर वापसी कर सकती हैं. अपने पहले बच्‍चे को जन्‍म देने के बाद उन्‍होंने प्रैक्टिस शुरू कर दी है, लेकिन उन्‍हें लगता है कि दोबारा शीर्ष पर पहुंचना मुश्किल होगा. Also Read - सानिया मिर्जा और शोएब मलिक की PIC देख सुरेश रैना ने किया रिएक्ट, टेनिस स्टार की दुबई वाली तस्वीर हुई वायरल

Also Read - प्रेग्‍नेंट सानिया मिर्जा के चेहरे से कम नहीं हुआ ग्‍लो, एक महीने बाद बनेंगी मां, देखें लेटेस्‍ट PHOTOS

सानिया ने हाल में अपने पहले बच्चे को जन्म दिया. छह बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन ने वापसी के लिए अभ्यास शुरू कर दिया है. इस 32 वर्षीय हैदराबादी ने कहा कि उन्हें अब कई भूमिकाएं निभानी हैं और यह आसान काम नहीं है. सानिया ने कहा, ‘‘मैं ये भूमिकाएं निभाने में सक्षम हूं. मैं पिछले कुछ समय से पत्नी की भूमिका निभा रही थी. अब मैं मां बन गई हूं. मैं फिर से शीर्ष स्तर पर पहुंचने की कोशिश कर रही हूं. मैं जानती हूं कि यह आसान नहीं है, लेकिन कोशिश करने में कोई हर्ज नहीं.’’ Also Read - Rio Olympics 2016: Sania Mirza suggests Games career over after bronze flop | हार से निराश सानिया का अगले ओलम्पिक में खेलने पर संदेह

सहवाग से मेरी तुलना…अरे नहीं, उनकी उपलब्धियों का आधा भी हासिल कर लिया तो बड़ी बात- बोले मयंक अग्रवाल

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा वास्तविक लक्ष्य खेल में वापसी करना है. संभवत: इस साल के आखिर में ऐसा हो सकता है. मैंने 2020 में वापसी की सोची थी. इसके पीछे कुछ कारण थे. मैं खुद पर दबाव नहीं बनाना चाहती थी और अब भी ऐसा ही है.’’ सानिया ने कहा कि बेटे इजहान के जन्म के बाद उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल गई है. उन्होंने कहा, ‘‘जब आपके घर में नवजात बच्चा हो तो जिंदगी काफी बदल जाती है. आपकी कोई और प्राथमिकता नहीं रहती. खिलाड़ी होने के कारण हम अपनी पूरी जिंदगी थोड़े स्वार्थी होते हैं, लेकिन यह हमारी फिटनेस, विश्राम और काम से जुड़ा है.’’

विज्ञापन की दुनिया में भी जारी है कोहली का ‘विराट’ जलवा, ब्रांड वैल्‍यू के मामले में लगातार दूसरे साल शीर्ष पर

सानिया ने कहा कि उनके बेटे को अपना करियर चुनने की पूरी स्वतंत्रता होगी. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने और मेरे पति (शोएब मलिक) ने इस पर बात नहीं की है. वह जो भी बनना चाहे, उसे पूरी छूट होगी. इसी तरह से मेरे माता पिता ने मुझे पाला. मैं जो बनना चाहती थी, उन्होंने मुझे उसकी छूट दी. हो सकता है कि मेरा बेटा खिलाड़ी नहीं बने. आप कुछ नहीं जानते.’’