भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज और कमेंटेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने कहा है कि भारत को हर फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान रखने की जरूरत नहीं है क्योंकि विराट कोहली (Virat Kohli) अच्छा काम कर रहे हैं। Also Read - मुझे ऐसा लगा जैसे मैं अमिताभ बच्चन हूं : मोहम्मद कैफ ने याद किया नेटवेस्ट सीरीज की जीत का जश्न

पूर्व इंग्लिश कप्तान नासिर हुसैन ने एक बयान में कहा था कि भारत में अलग फॉर्मेट-अलग कप्तान नीति नहीं चल पाएगी क्योंकि विराट कोहली एक मजबूत शख्सियत है जो किसी चीज को बांटना पसंद नहीं करेगी। हालांकि पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने इससे असहमति जताई और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को टी20 कप्तान बनाने की बात कही थी। Also Read - England vs West Indies : कोहली से लेकर तेंदुलकर ने विंडीज की ऐतिहासिक जीत पर दिए रिएक्शन, जानिए किसने क्या कहा

अब इस मामले पहले मांजरेकर ने अपने यूट्यूब चैनल ‘आस्क संजय’ पर कहा, “अलग-अलग फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तानी को लेकर मेरा विचार है कि आप इसके लिए खोज नहीं करते हो। अगर आप भाग्याशाली हो कि आपके पास ऐसा कप्तान है जो तीनों फॉर्मेट में अच्छा कर रहा है तो आपको अलग-अलग कप्तानों की जरूरत नहीं है और इस समय हमारे पास विराट कोहली हैं जो तीनों फॉर्मेट में अच्छा कर रहे हैं। इसलिए भारत को अलग-अलग फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तानी की जरूरत नहीं है।” Also Read - अजिंक्य रहाणे का खुलासा- टी20 फॉर्मेट में खेल सुधारने के लिए द्रविड़ ने दी ये सलाह

मांजरेकर ने कहा, “भविष्य में हो सकता है कि ऐसा समय आ जाए कि भारत को ऐसा करना पड़े लेकिन यह ऐसी चीज नहीं है जो आप चाहते हो। अगर ऐसा होता कि भारत के पास शानदार टेस्ट कप्तान और टेस्ट खिलाड़ी भी हो लेकिन वो 50 ओवरों के प्रारूप में या टी-20 में अच्छा न हो तो आपके पास अलग-अलग कप्तान हो सकते हैं, लेकिन इस समय तो ऐसा नहीं है।”