भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज वीरेंद्र सहवाग को मुलतान का सुलतान कहा जाता है. वो इसलिए क्‍योंकि उन्‍होंने पाकिस्‍तान की धरती पर मुलतान में 309 रन की पारी खेली थी. सहवाग भले ही टेस्‍ट क्रिकेट में दो बार तिहरा शतक जड़ चुके हों लेकिन पाकिस्तान के महान स्पिनर सकैलन मुश्ताक को सहवाग पर सचिन की 1999 में खेली गई पारी ज्‍यादा अहम नजर आती है. Also Read - टीम इंडिया की ‘किट स्‍पॉन्‍सरशिप’ के लिए इन दो कंपनियों में लगी होड़, NIKE का करार हो रहा है खत्‍म

वो 1999 में चेन्‍नई टेस्‍ट में सचिन की पारी को वीरेंद्र सहवाग द्वारा 2004 में मुलतान में खेली गई 309 रनों की पारी की तुला में ऊपर रखते हैं. सकलैन मुश्‍ताक ने कहा कि सचिन की वो पारी उस पाकिस्तान टीम के खिलाफ थी जो तैयार थी और मैच जीतने के लिए आगे बढ़ रही थी जबकि सहवाग की पारी मुल्तान की पिच पर पहले ही दिन आई थी. Also Read - विराट कोहली का भावुक VIDEO, कभी भी RCB को छोड़ने के बारे में नहीं सोच सकता

सकलैन ने यूट्यूव शो क्रिकेटबाज पर कहा, “मैं सचिन द्वारा चेन्नई टेस्ट की दूसरी पारी में बनाए गए 130 रनों को सहवाग के तिहरे शतक से ऊपर रखूंगा, क्योंकि हम वहां पूरी तैयारी से गए थे. वह लड़ाई वाला मैच था, वहां बेहतरीन प्रतिस्पर्धा हो रही थी.” Also Read - पूर्व चयनकर्ता बोले- धोनी भी हैं विराट की तरह उग्र, दोनों में है ये छोटा सा फर्क

उन्होंने कहा, “जबकि यहां 2004 में मुल्तान में कोई प्रतिस्पर्धा नहीं थी और वो तिहरा शतक पहली पारी में लगा था न की दूसरी पारी में. पहली पारी में पिच के पहले दिन, कोई तैयार नहीं थी. उनके माता-पिता के अच्छे काम और उनके कुछ अच्छे काम उनकी मदद कर गए.”

दोनों ही पारियों को पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई बेहतरीन पारियों में गिना जाता है.