नई दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने भारत की जीत के बाद माना कि पाकिस्तान के कप्तान सफराज अहमद के पास कोई गेम प्लान नहीं था. भारत ने दमदार प्रदर्शन करते हुए आईसीसी विश्व कप-2019 के महामुकाबले में डकवर्थ-लुइस नियम के आधार पर पाकिस्तान को 89 रनों से मात दी. इस जीत के साथ ही विश्व कप में भारत ने चिर-प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ विश्व कप में अपना रिकॉर्ड 7-0 कर लिया.Also Read - Harbhajan Singh ने चुनी अपनी ड्रीम टेस्ट टीम- स्टीव वॉ को कप्तानी, Sachin Tendulkar और Virender Sehwag भी शामिल

Also Read - T20 World Cup में भारत जैसे पाकिस्तान के खिलाफ खेला, वह उनका खेल नहीं: Inzamam Ul Haq

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 337 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया. मोहम्मद आमिर को छोड़कर कोई भी दूसरा गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों को परेशानी में नहीं डाल पाया. स्पिन गेंदबाज इमाद वसीम और शादाब खान भी भारत पर दबाव बनाने में फेल रहे. भारत के रोहित शर्मा ने जहां अकेले 140 रन जड़े तो वहीं पाकिस्तान की ओर से सबसे अधिक रन फखर जमन (62) और बाबर आजम (48) ने बनाए. Also Read - India vs Pakistan सीरीज की मेजबानी चाहता है UAE, Mohammad Amir ने किया स्वागत

एक वेबसाइट ने तेंदुलकर के हवाले से बताया, “मैं समझता हूं कि सरफराज परेशान थे क्योंकि जब वहाब गेंद कर रहे थे तब उन्होंने एक शॉर्ट मिड-विकेट लिया हुआ था और जब शादाब गेंदबाजी करने आए तो उन्होंने उसके लिए एक स्लिप रखी. इन पिरस्थितियों में एक लेग-स्पिनर के लिए गेंद को पकड़ना मुश्किल होता है, खासकर जब वो अपनी लाइन एवं लेंथ नहीं पकड़ पा रहा हो. बड़े मैचों में आप इस तरह नहीं खेल सकते.”

पाकिस्तान की हार के बाद अफरीदी की प्रतिक्रिया, IPL की वजह से सफल हुई है टीम इंडिया

तेंदुलकर ने कहा, “वे कुछ अगल नहीं सोच पाए. अगर गेंद मूव नहीं कर रही तो आप ‘ओवर द विकेट’ से लगातार गेंदबाजी नहीं कर सकते, वहाब ‘राउंड द विकेट’ गए लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. हसन ही एकमात्र गेंदबाज थे जो पिच से मूवमेंट निकाल पा रहे थे. मैंने उन्हें ऐंगल बदलकर कुछ नया करने के लिए कहा होता. मुझे कभी नहीं लगा कि हम विकेट खो सकते हैं.” भारतीय टीम चार मैचों में सात अंकों के साथ तालिका में तीसरे पायदान पर काबिज है.