नई दिल्ली: फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण से बाहर हो चुकी सऊदी अरब और मिस्र की टीमें सोमवार को होने वाले ग्रुप-ए के अपने आखिरी मैच में जीत के साथ टूर्नामेंट को अलविदा कहना चाहेगी. सऊदी अरब और मिस्र की टीमें ग्रुप चरण में दो-दो मैच हारकर अंतिम-16 में प्रवेश करने से चूक गईं, जिसके बाद अब लीग में उनका आखिरी मैच अब बस मात्र औपचारिकता ही बची है. सऊदी अरब को अपने मैच में मेजबान रूस से 0-5 से और दूसरे मैच में उरुग्वे से 0-1 से हार का सामना करना पड़ा है. Also Read - India vs New Zealand, 2nd ODI: ऑकलैंड वनडे में इन 2 बदलाव के साथ उतर सकता है भारत

Also Read - IND v WI 3rd T20: निर्णायक T20 में इस प्लेइंग इलेवन के साथ उतर सकती है टीम इंडिया

सऊदी टीम पिछले 24 वर्षों में विश्व कप में एक भी मैच नहीं जीत पाई है. लेकिन टीम चाहेगी सोमवार को मिस्र के खिलाफ मुकाबले में वह रिकॉर्ड को तोड़े. टीम ने दो मैचों में अभी तक अपने अंकों का खाता नहीं खोला है और वह अपने ग्रुप में सबसे नीचे चौथे स्थान पर है. सऊदी अरब विश्व कप के 21वें संस्करण में अभी तक एक भी गोल नहीं कर पाई है. Also Read - फीफा विश्व कप क्वालीफायर में बांग्लादेश के खिलाफ पहली जीत दर्ज करने उतरेगी भारतीय फुटबॉल टीम 

भारतीय हॉकी टीम ने अर्जेंटीना को 2-1 से हराया, सरदार सिंह के नाम दर्ज हुआ अनोखा रिकॉर्ड

जर्मनी में हुए 2006 विश्व कप के बाद पहली बार इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट खेलने उतरी सऊदी अरब की सबसे बड़ी ताकत टीम में मौजूद खिलाड़ियों की एकजुटता मानी जा रही थी. लेकिन दोनों ही मैचों में टीम का डिफेंस पूरी तरह विफल रहा और उसे प्रतियोगिता से बाहर का रास्ता देखन पड़ा.

वहीं मिस्र की टीम भी पहले दो मैचों में कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाई. टीम को अपने पहले मैच में मोहम्मद सलाह की गैर मौजूदगी में उरुग्वे से 0-1 से और दूसरे मैच में रूस से 3-1 से शिकस्त झेलनी पड़ी थी. मिस्र ग्रुप में तीसरे नंबर पर है. प्रत्येक ग्रुप से शीर्ष दो टीमें अंतिम-16 के लिए क्वालिफाई करेगी. ग्रुप-ए से रूस और उरुग्वे अंतिम-16 के लिए क्वालीफाई कर चुकी है.

आयरलैंड में रनों की बारिश करेंगे टीम इंडिया के ये दो ‘अनमोल रत्न’, देखें VIDEO

मुकाबले के से पहले दोनों टीमों अपना नियमित अभ्यास किया. सऊदी अरब ने कोच जुआन एंटोनिया पिजी और मिस्र ने अपने कोच हेक्टर कूपर के मार्गदर्शन में मैदान में पसीना बहाया. मिस्र के स्टार खिलाड़ी मोहम्मद सलाह चाहेंगे कि वे जीत के साथ टूर्नामेंट का समापन करें.

सऊदी अरब :

गोलकीपर – मोहम्मद अल-ओवेस, यासेर अल-मुसेलम, अबदुल्ला अल-मयूफ.

डिफेंडर – मंसूर अल-हर्बी, यासेर अल-शाहरानी, मोहम्मद अल-ब्रेइक, ओस्मा हावसावी, अली अल-बुलाही.

मिडफील्डर – अबदुल्ला अल-खेबारी, अब्दुलमालेक अल-खैबरी, अबदुल्ला ओतायेफ, तैसीर अल-जासिम, हुसैन अल मोघावी, सलमान अल-फराज, मोहम्मद कन्नो, हत्तन बाहेबरी, सालेम अल-दवसारी, यहया अल-शेहरी.

फॉरवर्ड – फहाद अल-मुवालाद, मोहम्मद अल-साहलावी, मुहम्मद असीरी.

टीम इंडिया का ‘यो-यो टेस्ट’ बना विवाद का कारण, BCCI से पूछे जायेंगे सवाल !

मिस्र :

गोलकीपर – एसाम अल हादरी, मोहम्मद एल सेहेनावी, शेरिफ एकरामी, मोहम्मद अवद.

डिफेंडर – अहमद फताही, साद सामीर, अयमान अशरफ, मेहमुद हमदी, मोहम्मद अबदेव शाफी, अहमद हेगाजी, अली गाबेर, अहमद अल मोहम्मदी, करीम हफीज, ओमर गाबेर, आम्रो गाबेर, अम्रो तारेक.

मिडफील्डर – तारेह हमीद, मेहमुद अबदेल अजीज, शिकाबाला, अबदल्लाह अल साइद, सैम मोर्सी, मोहम्मद अलनी, मेहमुद इखाराबल, रमदान सोभी, मेहमुद ट्रेजेगुएटल, अमर वार्डा.

फॉरवर्ड – मारवान मोहेसेन, अहमद गोमा, अहमद हसन, मोहम्मद सलाह.