भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाड़ी न्यूजीलैंड में एक टीम का हिस्सा बनाकर नैपियर टेक इयर की टीम के खिलाफ मैच खेल रहे थे. लेकिन 20 ओवर बाद यह मैच नस्लीय टिप्प्णियों के चलते रद्द हो गया. आरोप है कि फील्डिंग टीम ने ASA ऑकलैंड ब्ल्यू इलेवन के बल्लेबाज पर बीच मैच में नस्लीय टिप्पणियां शुरू कर दीं. मैच में अंपायरिंग कर रहे एक अंपायर ने एक खिलाड़ी को विरोधी बल्लेबाज पर नस्लीय टिप्पणियां करने के चलते उसे मैच से बाहर करने का निर्देश दिया. बाद में यह मैच रद्द करना पड़ा.Also Read - मोईन अली को उम्मीद है कि यॉर्कशायर नस्लवाद विवाद से माहौल में बदलाव आएगा

यह मैच गुरुवार को न्यूजीलैंड में हॉक बे के हैस्टिंग में नैपियर टेक इयर और वेस्टर्न ASA ब्ल्यू XI के बीच खेला जा रहा था. यह न्यूजीलैंड में स्कूल स्तर का एक टूर्नामेंट है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक न्यूजीलैंड क्रिकेट ने भी इस घटना की पुष्टि की है कि उसे मैच में खिलाड़ियों के साथ नस्लीय भेदभाव की शिकायत मिली है. टूर्नामेंट से जुड़े आयोजक फिलहाल इस घटना की जांच में जुटे हैं. Also Read - पुराने नस्लीय ट्वीट में फंस सकता है इंग्लैंड का एक और खिलाड़ी, जांच शुरू

ASA ऑकलैंड ब्ल्यू इलेवन की इस टीम में भारत, पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाड़ी भी शामिल थे. नैपियर की इस स्कूल टीम पर विरोधी टीम के खिलाड़ियों पर नस्लीय, होमोफोबिक और लैंगिक कॉमेंट करने का आरोप है. न्यूजीलैंड क्रिकेट ने कहा है कि वह इस घटना पर कोई टिप्पणी करने से पहले इस संबंध में और जानकारी मिलने का इंतजार करेगा. Also Read - ENG vs NZ- नस्लीय ट्वीट के चलते दूसरे टेस्ट से बाहर होंगे Ollie Robinson: रिपोर्ट

हालांकि हॉक बे क्रिकेट असोसिएशन के सीईओ क्रैग फाइंडले (Craig Findlay) ने हॉक बे टुडे को बताया कि यह मैच गलतफहमी के वजह से रद्द हुआ है. उन्होंने कहा कि हॉक बे क्रिकेट असोसिएशन को इस घटना की जानकारी है और वह इस पर तय नियमों के अनुसार कार्रवाई कर रहा है लेकिन अभी वह इस पर कोई टिप्पणी करना नहीं चाहते.