पूर्व कीवी ऑलराउंडर स्कॉट स्टाइरिस (Scott Styris) का मानना है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 जून से साउथम्पटन में होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) फाइनल में भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को स्विंग होती गेंद का सामना करने में परेशानी हो सकती है।Also Read - Friendship Day 2021: युवी ने ‘शोले फिल्‍म’ के गाने पर बनाया विशेष वीडियो, MS Dhoni को नजरअंदाज करने पर कुछ यूं हुए ट्रोल

साउथम्पटन के मुख्य मैदानकर्मी साइमन ली ने स्पष्ट कर दिया है कि उनका लक्ष्य तेज और उछाल भरी पिच बनाना है और स्टाइरिस का मानना है कि ये रोहित के लिए मुश्किलें पैदा कर सकता है। Also Read - India vs England: नेट्स में लौटे उप कप्तान अजिंक्य रहाणे; नॉटिंघम टेस्ट में खेलने की संभावना बढ़ी

स्टाइरिस ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘गेम प्लान’ में कहा, ‘‘ये पिच पर निर्भर करता है… मुझे लगता है कि अगर गेंद मूव करती है तो रोहित को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पारी की शुरुआत में रोहित के पैर काफी नहीं चलते। अगर ऐसा होता है तो स्विंग होती गेंद उनके लिए समस्या हो सकती है।’’ Also Read - वनडे टीम के दिवंगत यशपाल शर्मा के सम्मान में काली पट्टी ना पहनने से नाराज हुए पूर्व भारतीय क्रिकेटर

स्टाइरिस ने कहा कि न्यूजीलैंड का तेज गेंदबाजी अटैक मजबूत है और उसमें नील वैगनर की भूमिका अहम होगी। उन्होंने कहा, ‘‘न्यूजीलैंड की तेज गेंदबाजी योजना में कुछ भी छिपा हुआ नहीं है, टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट के साथ काइल जैमीसन या कॉलिन डी ग्रैंडहोम तीसरे तेज गेंदबाज की भूमिका निभाएंगे और ये नई गेंद से 22वें से 28वें ओवर तक गेंदबाजी करेंगे।’’

स्टाइरिस ने कहा, ‘‘इसके बाद नील वैगनर की भूमिका आएगी। इसलिए जब आप वैगनर के बारे में बात करते हैं तो आक्रामक गेंदबाजी करने की उसकी क्षमता है और दूसरी नई गेंद मिलने तक बीच के ओवरों में वो विराट कोहली जैसे के खिलाफ विकेट हासिल करने के लिए वास्तविक विकल्प है।’’

भारत को फाइनल से पहले तैयारी का अधिक समय नहीं मिला है जबकि न्यूजीलैंड इस मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ उसी की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतने के बाद उतरेगा।