लाहौर: पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने श्रीलंका के कुछ खिलाड़ियों के पाकिस्तान के दौर पर न आने का कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइज को बताया है. अफरीदी ने दावा किया कि आईपीएल फ्रेंचाइज ने खिलाड़ियों पर दबाव बनाया कि वह पाकिस्तान का दौर न करें.

रोनाल्डो के बेबाक बोल- गोल पोस्ट में बॉल डालने से ज्यादा सुखद है गर्लफ्रेंड के साथ बिताया गया निजी पल

श्रीलंका के शीर्ष खिलाड़ी लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्यूज, दिनेश चंडीमल, सुरंगा लकमल, दिमुथ करुणारत्ने, थिसारा परेरा, अकिला धनंजय, धनंजय डी सिल्वा, कुशल परेरा और निरोशन डिकवेला ने 27 सितंबर से शुरू हो रहे पाकिस्तान दौर पर जाने से मना कर दिया था.

ICC ने राहुल द्रविड़ के बारे में लिखी ऐसी बात कि सोशल मीडिया में लोगों ने जमकर की खिंचाई

पाकिस्तान के पत्रकार साज सद्दीक ने ट्विटर पर अफरीदी के हवाले से बताया, “श्रीलंकाई खिलाड़ी आईपीएल फ्रेंचाइजी के दबाव में हैं. मैंने पिछली बार श्रीलंका के खिलाड़ियों से बात की थी, जब उनके पाकिस्तान आने और पीएसएल में खेलने की चर्चा थी. उन्होंने कहा कि वे आना चाहते थे, लेकिन आईपीएल वालों का कहना है कि अगर आप पाकिस्तान जाते हैं तो हम आपके साथ करार नहीं देंगे.”

पंत की फ्लाप फॉर्म पर बोले मुख्य चयनकर्ता- हम उन पर नजर रखे हुए हैं, दूसरे विकल्प भी हैं हमारे पास

अफरीदी ने कहा, “पाकिस्तान ने हमेशा श्रीलंका का समर्थन किया, ऐसा कभी नहीं हुआ कि हमें श्रीलंका का दौरा करना हो और हमारे खिलाड़ी आराम करें. श्रीलंका के बोर्ड को अपने अनुबंधित खिलाड़ियों पर पाकिस्तान जाने का दबाव बनाना चाहिए. जो श्रीलंका के खिलाड़ी यहां आएंगे उन्हें हमेशा पाकिस्तान के इतिहास में याद किया जाएगा.”

कैप्टन कूल की पत्नी को आया गुस्सा, रांची में 7 घंटे की बिजली कटौती से भड़कीं साक्षी धोनी

इससे पहले, पाकिस्तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद हुसैन चौधरी ने भी भारत पर ऐसा ही आरोप लगाया था. श्रीलंका की टीम कराची और लाहौर में तीन वनडे एवं तीन टी-20 मैच खेलेगी. बता दें कि श्रीलंका के शीर्ष खिलाड़ियों के मना करने पर पाकिस्तान लगातार भारत को इसका जिम्मेदार ठहरा रहा है जबकि दूसरी तरफ सच्चाई यह है कि आतंकी हमले की धमकी की वजह से ही शीर्ष खिलाड़ियों ने जाने से मना किया है.