अपने करियर की शुरुआत से ही ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शेन वार्न (Shane Warne) को आदर्श मानने वाले टीम इंडिया के लेग स्पिनर कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) अपने पसंदीदा गेंदबाज से पहली बार मिलने पर 10 मिनट पर कुछ नहीं बोल पाए थे।Also Read - BCCI की नई कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट होगी जारी, क्या Ajinkya Rahane और Cheteshwar Pujara बचा पाएंगे अपना ग्रेड

भारत के चाइनामैन गेंदबाज ने टीवी प्रस्तुतकर्ता मेडोना टिक्जिरा की इंस्टाग्राम पर लाइव चैट के दौरान वार्नर के साथ अपनी पहली मुलाकात को याद किया। उन्होंने कहा, “मैं पुणे में एक टेस्ट मैच के दौरान शेन वार्न से मिला था। जब मैं उनसे पहली बार मिला था, तो अनिल कुंबले हमारे कोच थे और मैंने अपने कोच से कहा था कि मैं शेन वार्न से मिलना चाहता हूं।” Also Read - IND vs SA, दूसरे वनडे में मिडल ऑर्डर बैटिंग नहीं बॉलिंग में यह बदलाव करे टीम इंडिया: Dinesh Karthik का सुझाव

उन्होंने कहा, “आखिरकार जब मैं वार्न से मिला तो मैं 10 मिनट तक कुछ बोल नहीं पाया। वो अनिल भाई से बात कर रहे थे और उन्हें कुछ बता रहे थे। मैं केवल उन दोनों को सुन रहा था। आखिरकार मैंने बात करना शुरू किया और हमने काफी बात की। मैंने उन्हें अपना प्लान बताया कि जब मैं गेंदबाजी करता हूं तो कैसा महसूस करता हूं। मैंने उन्हें बताया कि किस तरह से मैं विकेट के दोनों ओर से गेंदबाजी करने की कोशिश करता हूं।” Also Read - 'Road Safety World Series' में नहीं खेलेंगे Sachin Tendulkar, आयोजकों ने नहीं किए हैं कई खिलाड़ियों के भुगतान

लेफ्ट आर्म भारतीय स्पिनर ने कहा आगे कहा कि उस मुलाकात के बाद से उन्होंने एक दूसरे से काफी बातें करना शुरू कर दिया और अपने विचार साझा किए। कुलदीप ने कहा, “उसके बाद से मैं उनसे कई बार मिल चुका हूं। वो हमेशा मुझे एक कोच की तरह गाइड करते हैं। वो मेरे दोस्त की तरह बन चुके हैं।”

चाइनामैन गेंदबाज ने कहा, “ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान मैंने उनके साथ काफी समय बिताया है। मुझे हमेशा ऐसा महसूस हुआ है कि अगर मुझे किसी सुझाव की जरूरत होगी, तो वह वहां होंगे। मैं उनसे फोन और मैसेज पर भी काफी बातें करता हूं। जब मैं युवा था, तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं उनसे मिलूंगा और उनके साथ क्रिकेट तथा गेंदबाजी के बारे में चर्चा करूंगा। इसलिए यह मेरे लिए एक बहुत बड़ी चीज थी।”