नई दिल्ली : राजस्थान के ब्रांड दूत शेन वॉर्न को सीमित ओवरों के क्रिकेट में रक्षात्मक गेंदबाज पसंद नहीं आते और यही कारण है कि मौजूदा समय में उनके पसंदीदा गेंदबाज भारत के कुलदीप यादव, पाकिस्तान के यासिर शाह और अफगानिस्तान के राशिद खान हैं जो ‘बल्लेबाजों द्वारा हिट किये जाने से भयभीत नहीं होते’. पिछले दो वर्षों में कलाई के स्पिनरों ने विकेट झटकने की काबिलियत के बूते सफेद गेंद से दबदबा बनाया है लेकिन इस महान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने इस बात को मानने से इनकार कर दिया कि अंगुली के स्पिनर सीमित ओवर के प्रारूप में प्रासंगिकता खो रहे हैं.

वॉर्न ने कहा, ‘‘एक अच्छा स्पिनर गेंदबाज एक अच्छा स्पिन गेंदबाज होता है. यह मायने नहीं रखता कि वह कलाई का स्पिनर है या फिर अंगुली का स्पिनर. सकलेन मुश्ताक, मुथैया मुरलीधरन, डेनियल विटोरी.. मेरे समय में इतने सारे अच्छे अंगुली के स्पिनर थे. ’’ लेकिन लाइन-अप में कलाई के अच्छे स्पिनर होने के अपने फायदे हैं.

IPL 2019: चेन्नई के खिलाड़ियों का नहीं होगा ‘यो-यो टेस्ट’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर आपको एक अच्छा कलाई का स्पिनर मिल जाता है तो उन्हें हमेशा चुना जायेगा क्योंकि वे हमेशा विकेट चटकायेंगे. वे शायद अन्य गेंदबाज की तुलना में कुछ रन भी दे देंगे लेकिन वे हमेशा विकेट हासिल करेंगे. वनडे क्रिकेट या टी20 में मध्य के ओवरों में विकेट चटकाना अहम होता है और यह आमतौर पर स्पिन से होता है. ’’

सफेद गेंद के क्रिकेट में उनके पसंदीदा स्पिनरों के बारे में पूछने पर वॉर्न ने कहा, ‘‘शीर्ष तीन स्पिनर, मैं जिन्हें देखना पसंद करता हूं और उनका वनडे और टी20 में दबदबा है, वो राशिद खान, यासिर शाह और कुलदीप यादव हैं. इस समय ये तीनों सर्वश्रेष्ठ हैं और मैं इन तीनों को देखने का लुत्फ उठाता हूं. ’’

क्राइस्टचर्च आतंकी हमले की कोहली समेत कई खिलाड़ियों ने की निंदा

वॉर्न ने कहा कि वह विश्व कप के लिये ऋषभ पंत को विशेषज्ञ बल्लेबाज के तौर पर इंग्लैंड की यात्रा करते हुए देखना चाहेंगे, भले ही उसने कम स्कोर बनाये हों. उन्होंने का मानना है कि जब भी महेंद्र सिंह धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेंगे तो बदलाव का दौर आराम से निकल जायेगा. उन्होंने कहा, ‘‘एमएस धोनी को विश्व कप में खेलना चाहिए. एम एस धोनी बेहतरीन खिलाड़ी हैं और विराट कोहली को उनकी नेतृत्व क्षमता के अनुभव और मुश्किल समय में उनकी मदद की जरूरत है. आपके पास उनकी जगह संभालने के लिये ऋषभ पंत के रूप में खिलाड़ी तैयार है.’’

टेस्ट में दुनिया के दूसरे सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले वॉर्न को लगता है कि यह धोनी बनाम पंत नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि ऋषभ विश्व कप में खेल सकता है. वे (धोनी और पंत) दोनों अंतिम एकादश में एक साथ रह सकते हैं. धोनी विकेटकीपर हैं और ऋषभ बल्लेबाजी करते हैं. मुझे नहीं लगता कि आपको यह कहने की जरूरत है कि यह ऋषभ है या धोनी.’’