भारतीय क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के खिलाफ अपने घर में पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेल रही है. इस टेस्ट में भारत ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली है. गुलाबी गेंद से शतक लगाने वाले कोहली पहले भारतीय बन गए हैं.

टीम इंडिया ने 9 विकेट पर 347 रन बनाकर पहली पारी घोषित की

वैसे तो डे-नाइट टेस्ट की शुरुआत 2015 में हो गई थी लेकिन भारत और बांग्लादेश की टीमें पहली बार दूधिया रोशनी में आमने-सामने हैं. भारत में डे-नाइट टेस्ट के आयोजन का श्रेय बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली को जाता है.

टीम इंडिया के पहले डे-नाइट टेस्ट के बीच ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिन गेंदबाज शेन वॉर्न ने विराट कोहली की टीम की ऑस्ट्रेलिया में अगले साल गुलाबी गेंद से टेस्ट खेलने की उम्मीद जताई है.

वॉर्न ने गांगुली और कप्तान कोहली को बधाई दी है. उन्होंने गांगुली के एक ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, ‘आपको और कोहली को डे-नाइट टेस्ट खेलने पर राजी होने के लिए बधाई . मुझे उम्मीद है कि एडिलेड में फिर टीम डे-नाइट टेस्ट खेलेगी. यह शानदार होगा.’


विराट के शतक की हो रही जमकर तारीफ, इस दिग्गज ने कहा- ‘रेड…व्हाइट…अब पिंक बॉल, इस युग में सब में बेस्ट हैं कोहली

दूसरी ओर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने कहा ,‘शाबाश सौरव. उम्मीद है कि टीम अगली बार ऑस्ट्रेलिया में भी डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेगी.’ भारतीय टीम अगले साल नवंबर में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएगी जहां उसे चार टेस्ट खेलने हैं.

भारत और बांग्लादेश की टीमें जो डे-नाइट टेस्ट खेल रही हैं वह ओवरऑल 12 गुलाबी गेंद से खेला जाने वाला टेस्ट मैच है. इससे पहले 2015 में डे-नाइट टेस्ट की शुरुआत हुई थी.