नई दिल्ली. जैसे-जैसे IPL का नया सीजन करीब आ रहा है इसे लेकर सरगर्मियां भी बढ़ती जा रही हैं. वो भी तब जब इसकी तारीखों का अभी एलान भी नहीं हुआ. अब जरा सोचिए सीजन जब शुरू हो जाएगा तो क्या होगा. बहरहाल, IPL के अगले सीजन यानि सीजन 12 से पहले राजस्थान रॉयल्स अपने गुलाबी अवतार को लेकर काफी चर्चा में है. कप्तान अजिंक्य रहाणे के मुताबिक इसके पीछे दो बहाने हैं , एक तो कैंसर को लेकर जागरुरता और दूसरा पिंक सिटी जयपुर से याराना.

साफ है गुलाबी रंग से राजस्थान रॉयल्स का पुराना रिश्ता तो रहा है लेकिन इस बार तो इस टीम को पूरी तरह से ही पिंक पसंद है. यानि, नीली जर्सी और नीले क्रिकेट किट्स का नामोनिशान तक नहीं.

बहरहाल, राजस्थान पर चढ़े गुलाबी रंग की बात तब तक फीकी है जब तक कि पिंकी डॉल की चर्चा न हो जाए. दरअसल, टीम के ब्रैंड एम्बेस्डर शेन वॉर्न के पास एक पिंक कलर की गुड़िया है, जिसे टीम के खिलाड़ी पिंकी डॉल कहकर पुकारते हैं. अब आप सोच रहे होंगे कि भला क्रिकेट की गर्मजोशी के बीच पिंकी डॉल का क्या काम. तो हम आपको बता दें कि ये मोहतरमा टीम के लेट-लतीफों को सीधा करती हैं.

तो सुना आपने, राजस्थान रॉयल्स का कोई भी खिलाड़ी अगर बस या ग्राउंड पर पहुंचने में थोड़ा भी लेट होता है उसे शेन वॉर्न की ये पिंकी डॉल सजा के तौर पर दी जाती है, जिसे उसे अपने साथ 24 घंटे तक रखना होता है.