गत उप विजेता एम एस धोनी (MS Dhoni) की अगुआई वाली चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल 2020 (IPL 2020) के 18वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) को 10 विकेट से रौंदकर अपनी दूसरी जीत दर्ज की.  पंजाब की ओर से रखे गए 179 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई ने फाफ डु प्लेसिस ( Faf du Plessis नाबाद 87) और शेन वॉटसन (Shane Watson नाबाद 83) के बीच पहले विकेट की 181 रन की अटूट साझेदारी की बदौलत 17.4 ओवर में बिना विकेट खोए 181 रन बनाकर जीत दर्ज की. Also Read - BCCI को बड़ी राहत; IPL 2021 के सफल आयोजन के लिए CPL का शेड्यूल बदलने को तैयार हुआ क्रिकेट वेस्टइंडीज

वॉटसन ने 53 गेंद की अपनी पारी में तीन छक्के और 11 चौके जड़े जबकि डु प्लेसिस ने 53 गेंद का सामना करते हुए 11 चौके और एक छक्का लगाया. Also Read - विंडीज दौरे के लिए AUS टीम का ऐलान, IPL खेलने वाले इन क्रिकेटर्स ने वापस लिया नाम, भड़के चयनकर्ता

पिछले मैचों में हार के दौरान छोटी-छोटी चीजों को बेहतर करने पर जोर देने वाले धोनी ने इस शानदार जीत के बाद कहा कि उनकी टीम छोटी-छोटी चीजों को सही करने में सफल रही. Also Read - IPL ने दुनिया के अन्य खिलाड़ियों की तुलना में भारतीय क्रिकेटरों को आगे रखा: Paddy Upton

धोनी ने अपनी टीम की एकतरफा जीत के बाद कहा, ‘मुझे लगता है कि हमने छोटी-छोटी चीजों को सही किया. बल्लेबाजी में हमें जिस शुरुआत की जरूरत थी हमें वह शुरुआत मिली. उम्मीद करते हैं कि आगामी मैचों में इन इसे दोहराने में सफल रहेंगे.’

‘यह सिर्फ अधिक आक्रामक होना नहीं है’

आक्रामक बल्लेबाजी करने वाले वॉटसन की पारी के संदर्भ में धोनी ने कहा, ‘यह सिर्फ अधिक आक्रामक होना नहीं है.  वह (वॉटसन) नेट पर गेंद को काफी अच्छी तरह हिट कर रहा था और आपको इसे पिच पर दोहराना होता है. यह समय-समय की बात है. फाफ हमारे लिए एंकर की भूमिका निभाते हैं और बीच के ओवरों में अच्छे शॉट खेलते हैं.  वह लैप शॉट के साथ हमेशा गेंदबाज को भ्रम में डालता है. ’

धोनी ने कहा कि पंजाब की टीम को कम स्कोर पर रोकना महत्वपूर्ण रहा.  उन्होंने कहा, ‘पहले तीन चार मैच देखने के बाद मुझे लगा कि अगर आप उन्हें कम स्कोर पर रोकते हो तो उन पर दबाव डाल सकते हो.  सभी टीमों के पास आक्रामक बल्लेबाज हैं जो गेंदबाजी को ध्वस्त कर सकते हैं और हमारे गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया.’

चेन्नई ने मौजूदा सीजन में अब तक 5 मैच खेले हैं जिसमें से उसे 2 में जीत जबकि 3 में हार मिली है.