नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज शॉन मार्श का मानना है कि नए खिलाड़ियों के टेस्ट टीम में जगह पक्की करने के चलते अब उनका टेस्ट करियर खत्म हो सकता है. 35 वर्षीय मार्श को भारत के खिलाफ सीरीज के बाद से टेस्ट टीम से बाहर कर दिया गया था. इसके बाद उन्हें श्रीलंका के खिलाफ हुई सीरीज में भी शामिल नहीं किया गया था.

द कॉरियर मेल ने मार्श के हवाले से लिखा, “अब यह संभावना बहुत कम है क्योंकि खिलाड़ियों ने श्रीलंका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया है.” उन्होंने कहा, “मैंने टीम में जगह भी बनाई थी. एशेज सीरीज में अच्छा प्रदर्शन के बाद उन्होंने पिछले एक साल से अधिक समय तक मुझे मौके दिए.” मार्श ने कहा, “दुर्भाग्यवश, यह मेरे लिए कारगर नहीं रहा. लेकिन जो भी आए और उन्होंने अच्छा किया और वे एशेज सीरीज (2019) में जगह बनाने के हकदार हैं.”

World Cup 2019: रोहित-कोहली के पास गांगुली का 20 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ने का मौका

मार्श ने 2011 के बाद से अबतक केवल 37 टेस्ट मैच खेला है, जिसमें उन्होंने छह शतक लगाए हैं जबकि वह 10 बार शून्य पर आउट हुए हैं. मार्श ने कहा, “मैं अपने प्रदर्शन में निरंतरता कायम नहीं रख पाया, जोकि एक अच्छे खिलाड़ी में होता है.” उन्होंने कहा, “मैंने अब तक जो कुछ भी हासिल किया, उस पर मुझे गर्व है. मैंने अपने देश के लिए टेस्ट मैच खेले और कुछ शानदार सीरीज भी जीतीं.”