नई दिल्ली : भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने गुरूवार को कहा कि निलंबित ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की मौजूदगी टीम के संतुलन के लिये जरूरी है लेकिन इस बात से इनकार किया कि उनकी टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा वनडे सीरीज में पांचवें गेंदबाज की कमी महसूस कर रही है. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा और निर्णायक वनडे शुक्रवार को खेला जायेगा. पहले दो मैचों में खलील अहमद और मोहम्मद सिराज के नाकाम रहने से टीम संयोजन में बदलाव लाजमी है.

धवन ने दोनों युवा तेज गेंदबाजों का बचाव किया लेकिन कहा कि संतुलन के लिये टीम में हरफनमौला का होना जरूरी है. भारत को पांड्या की कमी खल रही है जो एक टीवी शो पर अश्लील बयानबाजी के बाद से निलंबित है. धवन ने मैच से पूर्व प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘हार्दिक के होने से जो संतुलन बनता है , वह काफी अहम है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘केदार जाधव के खेलने पर भी उसकी ऑफ स्पिन के ओवर काफी अहम होंगे. मैं कहूंगा कि वह हमारा ‘गोल्डन आर्म’ है और हमेशा विकेट लेता है. उसने अक्सर बड़ी साझेदारियां तोड़ी है. टेस्ट और वनडे दोनों में हरफनमौला काफी अहम होता है.’’

मेलबर्न में धोनी की कप्तानी में भारत ने जीता था आखिरी वनडे, पढ़ें क्यों ‘बैकफुट’ पर है टीम

अहमद और सिराज के बारे में उन्होंने कहा कि वे अनुभव के साथ निखरेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘उनकी गेंदबाजी को लेकर कोई चिंता नहीं है. वे अभी नये हैं और अनुभव के साथ सीखेंगे. हमें उनका साथ देना है ताकि वे अपनी गलतियों से सबक लेकर परिपक्व बनें.’

धवन ने कहा कि टेस्ट सीरीज जीतने के बाद अब भारतीय टीम वनडे सीरीज भी जीतकर इतिहास रचना चाहती है. उन्होंने कहा, ‘‘सीरीज जीतना काफी जरूरी है. टेस्ट और वनडे दोनों जीतना बड़ी उपलब्धि होगी. हमने पिछले मैच में शानदार टीम प्रदर्शन किया खासकर महेंद्र सिंह धोनी का प्रदर्शन बेहतरीन रहा. हमें खुशी है कि धोनी ने अपनी लय हासिल कर ली है. उनके जैसा बल्लेबाज दूसरे छोर पर बल्लेबाज को आत्मविश्वास देता है.’’

धोनी-गिलक्रिस्ट जैसा खिलाड़ी नहीं बनना चाहते ऋषभ पंत, बताया किसे मानते हैं आइडल

कल के मैच के बारे में उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम को स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की कमी खल रही है जबकि भारत को भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी के अनुभव का फायदा मिल रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया अच्छी संतुलित टीम है हालांकि उन्हें स्मिथ और वार्नर की कमी खल रही है. वहीं हमारे पास भुवी और शमी के रूप में अनुभवी गेंदबाज है और हम पहले दस ओवर में दबाव बना लेते हैं. हम कल भी यही कोशिश करेंगे.’’