युवा ऑलराउंडर शिवम दुबे का फोकस इस समय टीम इंडिया में मिले मौके को भुनाने पर है. शिवम को अब तक 3 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेलने को मिले हैं. ऐसे में अब उनकी नजर आगामी विंडीज के खिलाफ सीरीज पर बेहतर प्रदर्शन करने पर टिकी हुई है. Also Read - Ab de Villiers के इस 4-Point Message से वापस फॉर्म में लौटे Virat Kohli, भारतीय कप्‍तान ने मांगी थी मदद

Also Read - IPL 2021 RR vs DC Highlights in Hindi: क्रिस मॉरिस की धमाकेदार पारी के दम पर राजस्थान ने दिल्ली को हराया

टीम इंडिया के खिलाफ सीरीज शुरू होने से पहले विंडीज ने मानी हार! कोच सिमंस बोले- कोहली को आउट करना मुश्किल Also Read - BCCI के सालाना कॉन्ट्रेक्ट की ए+ कैटेगरी में कोहली, रोहित और बुमराह को मिली जगह; पांडे-जाधव बाहर

शिवम दुबे ने मंगलवार को कहा कि वह नेशनल टीम में हार्दिक पांड्या की जगह लेने की कोशिश में नहीं जुटे हैं लेकिन निश्चित रूप से मिलने वाले मौके का फायदा उठाने का प्रयास करेंगे.

हार्दिक इस समय पीठ की चोट के कारण एक महीने से टीम से बाहर हैं. वह इस समय रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया से गुजर रहे हैं जिसके कारण ही शिवम का टीम में जगह बनाने का रास्ता बना और अब वह वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी सीमित ओवर की सीरीज की तैयारियों में जुटे हैं.

मुंबई के इस ऑलराउंडर ने बांग्लादेश के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था. उन्होंने 30 रन देकर तीन विकेट लिए थे.

‘मैं देश के लिए अच्छा करना चाहता हूं’

यह पूछने पर कि क्या वह हार्दिक को टीम से बाहर करने की कोशिश में हैं तो शिवम ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि यह हार्दिक को हटाने का मौका है लेकिन मुझे लगता है कि मुझे जो मौका मिला है  उससे मैं अपने देश के लिए अच्छा करने का प्रयास करूंगा. मुझे अपने देश के लिए काम करना है और मैं इसे बेहतर तरीके से करने की कोशिश करूंगा.’

‘विराट और टीम मैनेजमेंट से मुझे पूरा सपोर्ट मिल रहा है’

शिवम मुख्यत: गेंदबाजी ऑलराउंडर हैं, जो बड़े शॉट लगा सकते हैं. वह वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन टी-20 इंटरनेशनल में खुद को साबित करने का लक्ष्य बनाए हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें विराट कोहली और टीम प्रबंधन का सहयोग प्राप्त है.

दूसरे T20 में आशंका बारिश की लेकिन रनों की ‘बरसात’ तय

उन्होंने कहा, ‘हर कोई मेरा उत्साह बढ़ा रहा है. कप्तान और टीम प्रबंधन से काफी सहयोग मिल रहा है. इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ता है. इसलिए ड्रेसिंग रूम में मैं खुश और रिलैक्स महसूस करता हूं.’

‘बतौर ऑलराउंडर सबसे अहम फिटनेस बरकरार रखना होता है’

शिवम ने कहा कि फिटनेस ऑलराउंडर की सफलता में काफी अहम होती है. उन्होंने कहा, ‘ऑलराउंडर होना हमेशा मुश्किल होता है. मेरे लिए बतौर ऑलराउंडर सबसे अहम अपना फिटनेस स्तर बरकरार रखना होता है क्योंकि आपको बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों करने की जरूरत होती है. इसलिये फिटनेस बनाये रखना सबसे मुश्किल काम होता है.’

हार्दिक ने हाल में अपनी पीठ की सर्जरी लंदन में कराया था.