पूर्व पाकिस्‍तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर का मानना है कि आईसीसी ने टेस्‍ट किकेट को अब बल्‍लेबाजों को गेम बना दिया है। पिछले 10 सालों में क्रिकेट तहस नहस हो गया है और इसके लिए आईसीसी ही जिम्‍मेदार है। Also Read - इस दक्षिण अफ्रीकी पेसर ने गेंद को चमकाने का बताया नया फॉर्मूला, ICC लार पर लगा चुकी है बैन

ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर संजय मांजरेकर के साथ बातचीत में शोएब ने सफेद गेंद के क्रिकेट में खेलने के कुछ नियमों पर नाराजगी जताई जिसने इस प्रारूप को बल्लेबाजों का मददगार बना दिया है । Also Read - ENG vs WI, 1st Test: 143 साल के क्रिकेट इतिहास में पहली बार होगा बिना दर्शकों के टेस्‍ट

मांजरेकर ने उनसे पूछा था कि सीमित ओवरों के मैच में तेज गेंदबाज धीमे हो रहे हैं और स्पिनर तेज गेंद डाल रहे हैं, इस पर आपका क्या कहना है । शोएब ने जवाब में कहा ,‘‘ मैं साफ साफ कहूं । आईसीसी क्रिकेट को खत्म कर रही है । मैं खुलेआम कह रहा हूं कि आईसीसी ने पिछले दस साल में क्रिकेट को खत्म कर दिया है ।बहुत खूब । जो सोचा था आपने वो किया ।’’ Also Read - नहीं होगा टी20 विश्व कप; इंग्लैंड दौरे की तैयारी में जुटी ऑस्ट्रेलिया टीम

उनका मानना है कि प्रति ओवर बाउंसरों की संख्या बढाई जानी चाहिये क्योंकि अब दो नयी गेंद है और सर्कल के बाहर अधिकांश समय चार ही फील्डर हैं। उन्होंने कहा कि आईसीसी से पूछिये कि पिछले दस साल में क्रिकेट का स्तर बढा है या गिरा है । अब शोएब बनाम सचिन मुकाबले कहां हैं ।