पूर्व पाकिस्‍तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्‍तर का मानना है कि आईसीसी ने टेस्‍ट किकेट को अब बल्‍लेबाजों को गेम बना दिया है। पिछले 10 सालों में क्रिकेट तहस नहस हो गया है और इसके लिए आईसीसी ही जिम्‍मेदार है।Also Read - ICC U19 World Cup 2022: टीम इंडिया में चोटिल वासु वत्स की जगह आराध्य यादव को मौका

ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर संजय मांजरेकर के साथ बातचीत में शोएब ने सफेद गेंद के क्रिकेट में खेलने के कुछ नियमों पर नाराजगी जताई जिसने इस प्रारूप को बल्लेबाजों का मददगार बना दिया है । Also Read - धाकड़ बल्लेबाज Brendan Taylor पर लगा साढ़े 3 साल का बैन!

मांजरेकर ने उनसे पूछा था कि सीमित ओवरों के मैच में तेज गेंदबाज धीमे हो रहे हैं और स्पिनर तेज गेंद डाल रहे हैं, इस पर आपका क्या कहना है । शोएब ने जवाब में कहा ,‘‘ मैं साफ साफ कहूं । आईसीसी क्रिकेट को खत्म कर रही है । मैं खुलेआम कह रहा हूं कि आईसीसी ने पिछले दस साल में क्रिकेट को खत्म कर दिया है ।बहुत खूब । जो सोचा था आपने वो किया ।’’ Also Read - कोच द्रविड़ को ढूंढने होंगे ऐसे युवा खिलाड़ी जो अगले 4-5 सालों में टीम इंडिया को आगे ले जाएंगे: शास्त्री

उनका मानना है कि प्रति ओवर बाउंसरों की संख्या बढाई जानी चाहिये क्योंकि अब दो नयी गेंद है और सर्कल के बाहर अधिकांश समय चार ही फील्डर हैं। उन्होंने कहा कि आईसीसी से पूछिये कि पिछले दस साल में क्रिकेट का स्तर बढा है या गिरा है । अब शोएब बनाम सचिन मुकाबले कहां हैं ।