नई दिल्ली: दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के हाथों मिली पांच विकेट की हार के लिए गेंदबाजी को जिम्मेदार ठहराया है. दिल्ली ने शनिवार रात को अपने घर फिरोजशाह कोटला मैदान में चार विकेट पर 181 रन का मजबूत स्कोर बनाया लेकिन उसके गेंदबाज इस स्कोर का बचाव नहीं कर सके. अय्यर ने मैच के बाद कहा, “शुरुआत में हमें लगा कि 180 का स्कोर अच्छा स्कोर है और इसका बचाव किया जा सकता है. दुर्भाग्यपूर्ण, हम इसका बचाव नहीं कर सके. बल्लेबाजों ने अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन गेंदबाज मैदान पर रणनीतियों को सही से अमल में नहीं ला सके.” Also Read - Weather Forecast Latest Updates, Delhi Rain Alert: दिल्ली में कब होगी बारिश? मौसम विभान ने बताया किन राज्यों में धीमा रहेगा मानसून

Also Read - दिल्ली में कोविड-19 के 124 नए मामले, सात लोगों की मौत; केजरीवाल ने शुरू किया योग, मेडिटेशन में एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स

उन्होंने कहा, “मुझे कप्तान का बिल्कुल भी दबाव नहीं लग रहा. दबाव को संभालने के लिए आप केवल एक चीज कर सकते हैं नियमित रूप से स्कोरिंग. मेरे पास कुछ कोच और सलाहकार हैं जिनके मैं नियमित रूप से सीख लेता रहा हूं. हम पहले से ही हर मैच में तीन-चार बदलाव कर रहे हैं. उम्मीद है अगले सीजन हमारी टीम और सेट हो जाएगी.” Also Read - PDP की मीटिंग में तय, महबूबा मुफ्ती लेंगी दिल्‍ली में होने वाली ऑल पार्टी मीट पर अंत‍िम फैसला

मुंबई के खिलाफ राजस्थान को मिलेगी कड़ी चुनौती, ऐसा हुआ तो प्लेऑफ से बाहर हो जायेगी टीम

गौरतलब है कि इस मैच में दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 181 रन बनाए. इस दौरान टीम की ओर से रिषभ पंत ने 34 गेंदों का सामना करते हुए 4 छक्कों और 5 चौकों की मदद से 61 रन की अहम पारी खेली. वहीं अय्यर ने 32 रन का योगदान दिया. इसके जवाब में आरसीबी की ओर से विराट कोहली ने 70 रन और एबी डिविलियर्स ने शानदार पारी खेली. इसकी मदद से आरसीबी 5 विकेट से जीत गई.

RCB की जीत के बाद एबी डिविलियर्स ने जो कहा, पढ़कर हर भारतीय को गर्व होगा

इस मुकाबले में दिल्ली के गेंदबाज रन रोकने में असफल साबित हुए. हालांकि संदीप लाचिमाने ने अच्छी गेंदबाजी की. उन्होंने 4 ओवर में 25 रन देकर एक विेकेट लिया. वहीं ट्रेंट बोल्ट ने 4 ओवर में 40 रन देकर 2 विकेट लिए. हर्षल पटेल ने 4 ओवर में 51 रन देकर एक विकेट लिया. अमित मिश्रा ने 4 ओवर में 33 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया.