युवा बल्‍लेबाज श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) भारत के सीमित ओवरों के क्रिकेट में नंबर-4 के स्‍थान पर स्थिरता के साथ बल्‍लेबाजी करते हुए नजर आते हैं. नंबर-4 पर बल्‍लेबाजी करते हुए अय्यर भारत के लिए 56.85 की औसत से 398 रन बना चुके हैं. जरूरत के हिसाब से वो टीम के लिए तेज और धीमी गति से बल्‍लेबाजी करते हैं. अय्यर का कहना है कि अगर भविष्‍य में उन्‍हें सलामी बल्‍लेबाजी करने के लिए कहा जाता है तो वहां अच्‍छे से खेलना भी उनकी जिम्‍मेदारी रहेगी. Also Read - सुनील गावस्कर जैसी शोहरत ना मिलने पर भी अपने करियर से खुश हैं पूर्व भारतीय बल्लेबाज दिलीप वेंगसरकर

टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान श्रेयस अय्यर ने कहा, “अब मैं नंबर-4 पर बल्‍लेबाजी करते हुए खुद को सहज महसूस करता हूं. मैं काफी समय से इसी स्‍थान पर बल्‍लेबाजी कर रहा हूं. मुझे यह लगने लगा है कि नंबर-4 का स्‍थान ऐसी जगह है जहां खेलने के लिए मैं उपयुक्‍त हूं. जब आप इतने ऊंचे स्‍तर पर खेल रहे होते हो तो आपको टीम की जरूरतों के मुताबिक ही खुद के खेल को ढालना होता है. समय के अनुसार ही हमें टीम की जरूरतों को समझना होता है.” Also Read - वकार यूनुस ने टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत पर उठाए सवाल

पढ़ें:- महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर बोलीं-मां ने आज तक मेरा कोई मैच नहीं देखा Also Read - हनुमा विहारी ने अपनी पसंदीदा महिला क्रिकेटर के नाम का किया खुलासा, जानिए कौन है वो खिलाड़ी

श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने कहा, “ऐसा नहीं है कि मैं इकलौता बल्‍लेबाज हूं जो नंबर-4 पर अच्छा खेल सकता हैं. खुद को लचर बनाए रखना और एक से अधिक विभाग में प्रतिभा होना एक ऐसी चीज है जो टीम को इस वक्‍त आपसे चाहिए.”

पढ़ें:- कुलदीप यादव बोले- केएल राहुल और रिषभ पंत बेहतरीन लेकिन माही भाई की कमी खल रही है

“मैं एक खिलाड़ी के तौर पर खुद को डेवलप कर रहा हूं. टीम में में टॉप ऑर्डर से लेकर निचले क्रम तक सभी जगहों पर खेल चुका हूं. अगर कल मुझे 5वें नंबर पर बल्‍लेबाजी करने के लिए कह दिया जाता है तो मैं वो भी करता हुआ मिलूंगा. इसी तरह अगर मुझे ओपन करना पड़ेगा तो मैं वो भी करूंगा. इस वक्‍त मिडर ऑर्डर की बल्‍लेबाजी चर्चा का विषय है, केवल नंबर-4 नहीं.”