नई दिल्ली : दिल्ली कैपिटल्स टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा है कि इस समय टीम का आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ है और खिलाड़ी भी मैच जिताने की जिम्मेदारी ले रहे हैं. दिल्ली इस समय आईपीएल के 12वें संस्करण में 11 मैचों में सात जीत और चार हार के साथ 14 अंकों के साथ अंकतालिका में तीसरे नंबर पर है. टीम को अब रविवार को यहां फिरोजशा कोटला मैदान पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के साथ अपना अगला मैच खेलना है. दिल्ली अब बैंगलोर के खिलाफ होने वाले मुकाबले को जीतकर प्लेऑफ में अपना स्थान पक्का कर लेगी. यह मैच 28 अप्रैल को होना है.

अय्यर ने कहा, “निश्चित रूप से अभी हमारा आधा ही काम हुआ है और अब प्लेऑफ में क्वालीफाई करने के लिए हमें तीन में से एक और मैच जीतने की जरूरत है. मुझे लगता है कि इस समय खिलाड़ियों का आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ है और वे मैच जिताने की जिम्मेदारी को निभा रहे हैं. इस समय हम की जीत को लेकर काफी सकारात्मक सोच रहे हैं.”

कप्तान ने दिल्ली की धीमी विकेट को लेकर कहा, “हम यहां (फिरोजशाह कोटला मैदान) पर पिछले दो दिन से अभ्यास कर रहे हैं और अब हम पिच को लेकर अवगत हैं. पिच को लेकर अब हमें सही आइडिया पता है. चेन्नई और यहां पिच एकसमान है. विकेट को लेकर हम कोई शिकायत नहीं कर सकते लेकिन हमें इसके लिए अच्छे तरीके से तैयार रहना चाहिए और पिच के अनुसार ही अभ्यास करना चाहिए.”

धोनी ने 19 साल पहले पिता को किया था आउट, अब बेटे का किया ‘शिकार’

कई विदेशी खिलाड़ी विश्व कप की तैयारियों को लेकर अपनी-अपनी राष्ट्रीय टीमों के साथ जुड़ने के लिए आईपीएल को छोड़कर स्वदेश लौट रहे है. दिल्ली के तेज गेंदबाज और इस सीजन में अबतक सबसे ज्यादा विकेट अपने नाम करने वाले कगिसो रबाडा भी उनमें से एक हैं.

अय्यर ने कहा, “हम इस पर ज्यादा नहीं सोच रहे हैं कि कौन यहां रहेगा कौन नहीं. हमें अपनी क्षमताओं पर विश्वास है. हमारी सबसे बड़ी ताकत यह है कि हम एक युवा टीम होने के साथ-साथ थोड़े अनुभवी भी हैं. हमें अपनी ताकत और कमजोरियों का पता है और हम इसी के अनुसार खेलेंगे.”

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की हरकत पर बीसीसीआई का बयान, महिला-पुरुष क्रिकेट को लेकर विवाद

उन्होंने कहा, “बैंगलोर के कई खिलाड़ियों के स्वदेश लौटने से हमारा फायदा है क्योंकि मोइन अली भी उनमें से एक हैं. जिस तरह की यहां की पिच है वह हमारे लिए फायदेमंद है. अगर हम रबाडा की बात करें तो मुझे पता नहीं है कि वह यहां रहेंगे या नहीं. अगर वह विश्व कप के लिए दक्षिण अफ्रीकी टीम में चुने गए हैं तो निश्चित रूप से उन्हें वहां होना चाहिए.”